कैलाश विजयवर्गीय के 'आग लगाने' वाले बयान पर कांग्रेस ने पूछा, 'क्या इंदौर आपकी जागीर है'

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का शुक्रवार को इंदौर में तैनात अधिकारियों को धमकाते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें उन्होंने कहा था कि संघ के पदाधिकारी शहर में हैं, नहीं तो आज इंदौर में आग लगा देता.

कैलाश विजयवर्गीय के 'आग लगाने' वाले बयान पर कांग्रेस ने पूछा, 'क्या इंदौर आपकी जागीर है'
कांग्रेस नेता गोविंद सिंह.

इंदौर: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के 'इंदौर शहर को आग लगाने' की धमकी के बाद कांग्रेस पार्टी ने उनकी तीखी आलोचना की है. मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में सहाकारिता और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने विजयवर्गीय के 'आग लगाने' वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपाईयों को ट्रेनिंग ही इसी बात की दी जाती है.

गोविंद सिंह ने कहा, 'भाजपा की संस्कृति ही यही है, आरएसएस में उनको ट्रेनिंग दी जाती है की वे ऐसा ही बोलें. कैलाश विजयवर्गीय ने अपनी संस्कृति दिखाई है. उनकी मानसिकता पर मुझे तरस आता है. उनका यह बयान बेहद चिंतनीय है. मैं गृह मंत्री से चर्चा करुंगा कि ऐसे लोगों पर कार्रवाई करें.'

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर कैलाश विजयवर्गीय से पूछा है कि क्या इंदौर उनकी जागीर है. मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपनी ट्वीट में भाजपा को 'भारत जलाओ पार्टी' बताया है. मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा, 'भारत जलाओ पार्टी. क्या इंदौर इनकी जागीर है, जो ये पूरे शहर को आग लगा देंगे..! लगता है माफियामुक्त मप्र अभियान से इनकी भी आमदनी प्रभावित हुई है..! कैलाश जी, जब कभी इस तरह की उपद्रवी सोच या शहर जलाने का इरादा मन में आये तो कमलनाथ जी का ध्यान किया करिये, कईयों के भूत उतर गये हैं.'

वहीं दूसरी ट्वीट में मध्यप्रदेश कांग्रेस ने कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश का निगमकर्मी को बल्ला मारते हुए वीडियो पोस्ट किया है और लिखा है, 'कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र निगम अधिकारी को बल्ले से पीटते हुये. बेटे की पिक्चर पहले रिलीज़ हुई थी, बाप का डायलॉग कल जारी हुआ है. आखिर कौन हैं ये लोग, किस घमंड-अभिमान में जी रहे हैं, लोकतंत्र की आड़ में छिपे इन नकाबपोशों से जनता का भला कैसे मुमकिन है...? कभी सोचना जरूर..!'

गौरतलब है कि भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का शुक्रवार को इंदौर में तैनात अधिकारियों को धमकाते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें उन्होंने कहा था कि संघ के पदाधिकारी शहर में हैं, नहीं तो आज इंदौर में आग लगा देता.

अनुसूचित जाति-जनजाति के आरक्षण को दस साल बढ़ाने संबंधी विधेयक पर अनुसमर्थन के लिए विधानसभा का एक दिन का विशेष सत्र बुलाने पर सहाकारिता और संसदीय कार्य मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा, 'कांग्रेस पार्टी हर वर्ग की है. एससी एसटी वर्ग के लिए जो आरक्षण का  प्रावधान था वो 25 जनवरी तक समाप्त हो जाएगा. मध्यप्रदेश की विधानसभा में इसे जल्द लाना है.' 

एंग्लो इंडियन पद की समाप्ति के मामले पर गोविन्द सिंह ने कहा, 'बीजेपी और पीएम देश को बांटने की सोच रखते हैं. जो प्रावधान लोकसभा और राज्यसभा में संशोधन कर दिए गए हैं उसके बाद एमपी विधानसभा में इस पद का कोई औचित्य नहीं है. कुछ राज्य सरकारें  मिलेंगी तो इस विषय पर चर्चा होगी.' हनी ट्रैप मामले पर मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि अफसर हो या नेता हर आरोपी जुलूस निकलना चाहिए. सरकार किसी को नहीं बख्शेगी.