MP: मंदसौर के किसानों से बोले CM शिवराज- प्रदेश में खून-खराबा चाहती है कांग्रेस

मंदसौर में किसान आंदोलन की सुगबुगाहट के बीच प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज सिंह चौहान मंदसौर पहुंचे. 

MP: मंदसौर के किसानों से बोले CM शिवराज- प्रदेश में खून-खराबा चाहती है कांग्रेस
तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन में CM शिवराज सिंह चौहान

नई दिल्लीः मंदसौर में किसान आंदोलन की सुगबुगाहट के बीच प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज सिंह चौहान मंदसौर पहुंचे. मंदसौर में सीएम शिवराज तेंदुपत्ता संग्राहक और असंगठित श्रमिक सम्मेलन में पहुंचे थे. जहां किसानों को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने कहा कि कांग्रेस किसान आंदोलन के बहाने खून खराबा फैलाना चाहती है. कांग्रेस शांति के टापू मध्यप्रदेश को अशांति के टापू में बदलना चाहती है. अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने किसानों से कहा कि 'आप कांग्रेस के बहकावे में न आएं. मध्यप्रदेश की मौजूदा सरकार ने किसानों के लिए जितना काम किया है उतना किसी भी सरकार ने नहीं किया.'

तेंदुपत्ता संग्राहक सम्मेलन में शामिल होने मंदसौर पहुंचे थे सीएम शिवराज
तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन के बाद सीएम शिवराज ने मंदसौर में ही रात गुजारी.जहां सीएम शिवराज ने रात को किसानों और किसान नेताओं से भी मुलाकात की. सीएम शिवराज और किसानों की इस मीटिंग के दौरान कई भारतीय किसान यूनियन के नेता मौजूद थे. इस दौरान सभी किसानों ने सीएम शिवराज के सामने अपनी मांगें रखते हुए उन्हें पत्र सौंपे. जिसके बाद सीएम शिवराज ने किसानों को उनकी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया है. इसके बाद सीएम शिवराज ने जिले के एसपी और कलेक्टर से भी मुलाकात की और शहर और गांवो की सुरक्षा व्यवस्था पर बात की.

मंदसौर एसपी और कलेक्टर से सीएम शिवराज ने की मुलाकात
सीएम शिवराज ने मंदसौर एसपी और कलेक्टर से मुलाकात के दौरान किसान आंदोलन में होने वाली हिंसा की आशंका पर भी बात की और पुलिस प्रशासन को मुस्तैद रहने के निर्देश दिये. बता दें कि 1 जून से 10 जून तक प्रदेश में किसान आंदोलन होने वाला है. जिसमें इंटेलिजेंस को हिंसा के इनपुट मिले थे. इसी बात को ध्यान में रखते हुए सीएम शिवराज ने प्रदेश भर में पुलिस प्रशासन को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
बता दें मंदसौर में बंद के दौरान आमजन की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने पुख्ता सुरक्षा इंतजामात किए हैं. कई स्थानों पर फ्लैग मार्च किया जा रहा है उपद्रवियों की पहचान और निगरानी रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. साथ ही आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई सुचारु रुप से बनी रहे .इसके लिए दूध प्लांटों के बाहर पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं. ताकि इलाके के लोगों में भरोसा उत्पन्न हो और किसी भी तरह की स्थिति में निपटा जा सके.