VIDEO: एमपी के मंत्री का विवादित बयान, सड़कों की तुलना हेमा मालिनी और कैलाश विजयवर्गीय के गाल से की

पीसी शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'यह वाशिंगटन और न्यूयॉर्क की सड़कें थीं कैसी? पानी गिरा जमके और यहां गढ्ढे ही गढ्ढे हो गए. कैलाश विजयवर्गीय के जो गाल हैं वैसे हो गए. 15-20 दिन में चका-चक सड़कें हेमा मालिनी के गाल जैसे हो जाएंगे.' 

VIDEO: एमपी के मंत्री का विवादित बयान, सड़कों की तुलना हेमा मालिनी और कैलाश विजयवर्गीय के गाल से की
एमपी के मिनिस्टर पीसी शर्मा ने विवादित बयान दिया है.

भोपाल: मध्य प्रदेश की सड़कों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक बयान पर पलटवार करने के फेर में कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा विवादित बयान दे बैठे हैं. पीसी शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'यह वाशिंगटन और न्यूयॉर्क की सड़कें थीं कैसी? पानी गिरा जमके और यहां गढ्ढे ही गढ्ढे हो गए. कैलाश विजयवर्गीय के जो गाल हैं वैसे हो गए. 15-20 दिन में चका-चक सड़कें हेमा मालिनी के गाल जैसे हो जाएंगे.' मंत्री पीसी शर्मा राजनीतिक बयानबाजी में भूल गए कि वह सड़कों की तुलना किससे कर रहे हैं. यहां आपको बता दें कि हेमा मालिनी प्रसिद्ध अभिनेत्री के साथ उत्तर प्रदेश के मथुरा से बीजेपी की सांसद हैं. 

इस बार मध्य प्रदेश में अच्छी बारिश हुई है, जिसके चलते कई इलाकों में जलजमाव की समस्या हो गई है. बताया जा रहा है कि इन्हीं जलजमाव के चलते सड़कें खराब हो गई हैं. मंत्री पीसी शर्मा सड़कों की हालत देखने के लिए निकले थे, इसी दौरान बयानवीर बनने के फेर में विवादित बातें कह गए.

यहां आपको बता 24 अक्टूबर 2017 को यूएस दौरे के दौरान एमपी के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि 'जब वाशिंगटन एयरपोर्ट से बाहर निकलकर सड़क पर मैंने यात्रा की तो लगा कि अमेरिका की सड़कों की तुलना में मध्‍य प्रदेश की सड़कें ज्‍यादा बेहतर हैं.' उन्‍होंने मुस्‍कुराते हुए यह भी कहा था कि मैं ये बात यूं ही नहीं कह रहा हूं, हमने राज्‍य में 1.75 लाख किमी सड़कें बनाई हैं और सभी गांवों को सड़कों से जोड़ा है. उल्‍लेखनीय है कि अमेरिकी रोड नेटवर्क का दायरा तकरीबन 65.8 लाख किमी में फैला है और इस आधार पर इसको दुनिया का सबसे लंबा और बड़ा रोड नेटवर्क कहा जाता है.

देश लौटने के बाद भी पूर्व सीएम चौहान ने कहा था, 'मैं आपको उदाहरण देना चाहता हूं कि मध्यप्रदेश में जब आप इन्दौर हवाई अड्डे से सुपर कॉरिडोर सड़क से शहर की ओर जायेगें तो आप एक विश्वस्तरीय सड़क पायेंगे. जब अमेरिका में मैंने सड़क के बारे में कहा था तो मेरे दिमाग में यही अहसास था. मैं वहां अपने प्रदेश की ब्रांडिग करने गया था, न कि यहां की स्थानीय सड़कों की ख्रराब हालत बताने. लेकिन हमारे कांग्रेसी मित्रों को हर चीज में राजनीति दिखती है.' इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने प्रदेश के इन्दौर-भोपाल और इन्दौर-मंदसौर जैसे विश्वस्तरीय राजमार्गो का भी उदाहरण दिया.

सीएम शिवराज ने कहा था, 'मैं वहां अपने प्रदेश और देश के अच्छे और सकारात्मक पक्ष बताने गया था. मैंने एक रिपोर्ट में पढ़ा कि वाशिंगटन की 92 फीसद सड़कें खराब हालत में हैं.' 

लाइव टीवी देखें-: