MP:जिंदा जलाए गए दलित युवक का हुआ अंतिम संस्कार, पक्ष-विपक्ष का ब्लेम गेम जारी

धन प्रसाद का शव आज सागर पहुंचा, अंतिम यात्रा धर्मश्री स्थित उसके निवास से निकली शव यात्रा में विधायक शैलेंद्र जैन, विधायक प्रदीप लारिया, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश चौधरी सहित कई जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आम जन मौजूद थे.

MP:जिंदा जलाए गए दलित युवक का हुआ अंतिम संस्कार, पक्ष-विपक्ष का ब्लेम गेम जारी
जिंदा जलाए गए दलित युवक की शव यात्रा

सागर: सागर के मोती नगर थाना अंतर्गत धर्मश्री इलाके में रहने वाले धन प्रसाद अहिरवार को 5 लोगों द्वारा 14 जनवरी को विवाद के दौरान केरोसिन डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया था, दो दिन उपचार के बाद शुक्रवार को उसे भोपाल रेफर कर दिया गया था. बता दें कि युवक को इलाज हेतु पहले सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था, फिर उसे इलाज के लिये भोपाल रेफर किया गया था, तथा भोपाल से एअरलिफ्ट करके दिल्ली में इलाज के लिए भर्ती किया गया था. जहां धन प्रसाद की कल इलाज के दौरान मौत हो गई. 

धन प्रसाद का शव आज सागर पहुंचा, अंतिम यात्रा धर्मश्री स्थित उसके निवास से निकली शव यात्रा में विधायक शैलेंद्र जैन, विधायक प्रदीप लारिया, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश चौधरी सहित कई जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आम जन मौजूद थे. जिसे देखते हुए पुलिस ने पहले से ही चाक-चौबंद प्रबंध किए थे.

शव यात्रा जैसे ही शमशान घाट के नजदीक पहुंची तो कुछ लोगों ने शव यात्रा को रोककर चक्का जाम करने का प्रयास किया. जिसे प्रशासन ने शांतिपूर्वक तरीके से विफल करते हुए शव यात्रा को श्मशान घाट के अंदर तक भेजा. इस दौरान विधायक प्रदीप लारिया को शमशान में अंदर जाने से रोका गया. जिसके बाद शव यात्रा श्मशान घाट के अंदर पहुंचते ही पुलिस द्वारा श्मशान घाट के गेट बंद कर दिए. जिसे लेकर विधायक प्रदीप लारिया तथा पुलिस के बीच तीखी बहस हुई. मामले को बढ़ता देख तत्काल पुलिस के अधिकारियों ने विधायक को अंदर जाने दिया तथा श्मशान घाट के गेट भी खुलवा दिए.

सरकारी नियम अनुसार मृतक के परिजनों में से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी, ₹825000 की आर्थिक सहायता जिसमें से आधा पैसा मृतक के परिजनों के खाते में आ गया है. अलग से रहने के लिए आवास प्रशासन के द्वारा स्वीकृत कर दिया गया है.

घटना के पांचों आरोपियों को पुलिस कर चुकी गिरफ्तार 
मीडिया से बात करते हुए अहिरवार महापंचायत के जिला अध्यक्ष अनिल अहिरवार ने नेताओं पर दलितों पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि, यहां के जो विधायक हैं, सांसद है, नेता हैं किसी भी दल के हों उनको केवल अहिरवार समाज मिलता है, दलित मिलते हैं. दलितों पर राजनीति क्यों कर रहे हैं, यह लोग धन प्रसाद अहिरवार के शव को लेकर भी राजनीति कर रहे हैं जो अच्छी बात नहीं है.

इस दौरान कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, इन लोगों को लाशों पर राजनीति करने की आदत है. जिसका प्रमाण स्पष्ट सबके सामने है. साथ ही उन्होंने कहा कि मैं बड़ी विनम्रता से उनसे पूछना चाहता हूं, कि हमारे टीकमगढ़ से विधायक राहुल लोधी ने 3 दलितों को रौंद कर मार डाला, तब दलितों के प्रति इतना हौसला नहीं दिखा. उस समय दलितों के प्रति उनकी हमदर्दी कहां गई थी.

उन्होंने कहा कि धन प्रसाद अहिरवार की हत्या के बाद उसकी लाश छीनने का काम किया गया है. प्रशासन को चेतावनी देते हुए सुरेश चौधरी ने कहा कि आज के घटनाक्रम में संबंधित व्यक्तियों पर कानूनी कार्रवाई करें वरना परिणाम भुगतने के लिए तैयार हो जाए.