close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े या घटे, जानें क्या कहते हैं आंकड़े

दुष्कर्म के मामलों में मध्य प्रदेश 5,599 लड़कियों और महिलाओं के साथ कथित तौर पर शीर्ष पर है. 2016 के 4,882 से ज्यादा मामलों के साथ दुष्कर्म के मामलों में 14.6 फीसदी की वृद्धि हुई है.

मध्य प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े या घटे, जानें क्या कहते हैं आंकड़े
(सांकेतिक तस्वीर)

भोपालः एक साल के अंतराल पर आए नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो (National Crime Records Bureau) के आंकड़ों में अपराध में हुई वृद्धि ने लोगों को चौंकाया है. आंकड़ों की अनुपलब्धता की वजह एनसीआरबी की ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट (Bureau of Police Research and Development) के साथ प्रस्तावित विलय था. सोमवार को जारी एनसीआरबी के 2017 के आंकड़ों के अनुसार, मध्य प्रदेश में 6 से 18 साल के उम्र की लड़किया और महिलाएं दुष्कर्म को लेकर सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं.

दुष्कर्म (Rape) के मामलों में मध्य प्रदेश 5,599 लड़कियों और महिलाओं के साथ कथित तौर पर शीर्ष पर है. 2016 के 4,882 से ज्यादा मामलों के साथ दुष्कर्म के मामलों में 14.6 फीसदी की वृद्धि हुई है, लेकिन नाबालिग और किशोर लड़कियां (6 से 18 साल के बीच) और अधेड़ आयु व बुजुर्ग महिलाएं (45 से 60 साल और उससे ऊपर) राज्य में कथित तौर पर अधिक संख्या में पीड़ित हैं.

देखें LIVE TV

ग्वालियर: गैस एजेंसी के मुनीम को लुटेरे ने गोली मारकर लूट लिए साढ़े चार लाख

आगे के विश्लेषण से पता चलता है कि जब बात महिला/व्यस्क पीड़ित के साथ दुष्कर्म के कुल मामलों की आती है तो मप्र में राष्ट्रीय स्तर पर सभी मामलों का 10 फीसदी मामले सामने आए, जिनकी संख्या 2,517 रही. लेकिन नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म के मामलों में मप्र में 3,082 मामले रहे. यह राष्ट्रीय स्तर पर 2017 में इस तरह के कुल मामलों का 30 फीसदी रहा.