close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नक्सल प्रभावित इलाके में बच्चों को पढ़ा रहे हैं CRPF के जवान, सभी कर रहे सलाम

कोलेंग गांव बस्तर के मुख्यालय जगदलपुर से 55 किलोमीटर दूर बीहड़ों में बसा एक आदिवासी बाहुल्य गांव है. 

नक्सल प्रभावित इलाके में बच्चों को पढ़ा रहे हैं CRPF के जवान, सभी कर रहे सलाम
यहां शिक्षक जाना नहीं चाहते क्योंकि यहां का इतिहास बड़ा हिंसक रहा है और यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र है.

अविनाश प्रसाद/जगदलपुर: पहाड़ों और घाटियों के पार बसे बस्तर के नक्सल प्रभावित गांव कोलेंग से एक खूबसूरत तस्वीर सामने आई है. इन तस्वीरों में कोलेंग गांव की पाठशाला में सीआरपीएफ का जवान बच्चों को पढ़ाता दिख रहा है. वहीं, बच्चे भी बड़ी तल्लीनता से गुरु रूपी जवान से शिक्षा ग्रहण करते दिख रहे हैं.

दरअसल, कोलेंग गांव बस्तर के मुख्यालय जगदलपुर से 55 किलोमीटर दूर बीहड़ों में बसा एक आदिवासी बाहुल्य गांव है. यहां शिक्षक जाना नहीं चाहते क्योंकि यहां का इतिहास बड़ा हिंसक रहा है और यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र है.

नक्सलियों ने यहां के कई ग्रामीणों और सरपंचों की हत्या की है. एक समय में ये इलाक़ा पूरी तरह से नक्सलियों के आतंक से थर्राता था. यहां तक पहुँच पाना भी कठिन है. 

 

कुछ समय पहले यहां सीआरपीएफ की 80 बटालियन ने ग्रामीणों के साथ एक सौहार्द बैठक रखी थी. विद्यार्थियों ने बताया कि यहां विषय विशेषज्ञ शिक्षक नही हैं. फिर क्या था, जवानों ने बच्चों को पढ़ाने का ज़िम्मा उठा लिया. अब जवान रोज़ यहां कक्षा 10वीं और 12वीं के बच्चों को गणित और विज्ञान की पढ़ाई करवाते हैं. जवानों की इस पहल और उनके समर्पण की हर कोई तारीफ़ कर रहा है.