मनरेगा जॉब कार्ड पर मजदूरी करता पकड़ा गया इनामी डकैत, गौरी यादव गैंग का है सक्रिय मेंबर

भालचंद्र को पंचायत की योजना के सभी लाभ मिलते गए. पुलिस रिकॉर्ड में फरार डकैत पंचायत के जॉब कार्ड पर मनरेगा में मजदूरी करता रहा.

मनरेगा जॉब कार्ड पर मजदूरी करता पकड़ा गया इनामी डकैत, गौरी यादव गैंग का है सक्रिय मेंबर
सतना पुलिस की गिरफ्त में डकैत भालचंद्र.

सतना: मध्य प्रदेश में एक इनामी डकैत मनरेगा में मजदूरी कर रहा था. वह एमपी-यूपी की सीमा पर आतंक का पर्याय बने 1.5 लाख के इनामी डकैत गौरी यादव गैंग का हार्डकोर मेंबर है. उसका नाम भालचंद्र उर्फ भाईचन्द्र उर्फ भल्ला उर्फ पाड़े यादव है. भालचंद्र को सतना पुलिस ने गिरफ्तार किया है. कुछ दिन पहले सोशल मीडिया में इस डकैत के मनरेगा में मजदूरी करने की जानकारी वायरल हुई थी.

डॉक्टर की बॉडी में तेजी से बढ़ रहा था कोलेस्ट्रॉल, डॉक्टर्स ने नए तरीके से कर दिया इलाज

इसके बाद सतना जिला प्रशासन व पुलिस के आला-अधिकारी सक्रिय हुए और उसे गिरफ्तार किया. डकैत गौरी यादव की बहन मझगवां जनपद पंचायत के अंतर्गत पडमनिया जागीर पंचायत की सरपंच है. इसलिए भालचंद्र को पंचायत की योजना के सभी लाभ मिलते गए. पुलिस रिकॉर्ड में फरार डकैत पंचायत के जॉब कार्ड पर मनरेगा में मजदूरी करता रहा. आरोपी भालचंद्र और डकैत गौरी यादव आपस मे चचेरे साला-बहनोई हैं.

MP में बढ़ रहे कोरोना के मामले, CM शिवराज का रात 8 बजे प्रदेशवासियों के नाम संबोधन

डकैत गौरी यादव के लिए मुखबिरी करता था भालचंद्र
भालचंद्र का काम गौरी यादव के लिए मुखबिरी करने का था. पडमनिया, साडा, उंचामार, थरपहाड, मलगोसा आदि गांवों में ठेकेदारी, बीड़ी पत्ता, रोड निर्माण, जंगल विभाग के काम चलते तो वह डकैत गौरी यादव को सूचना देता. कुख्यात डकैत गौरी यादव ठेकेदारों को डरा-धमका कर काम बंद करा देता. फिर काम चालू कराने के नाम पर रंगदारी वसूलता.

अदालत में चोरी: मालखाने से लाखों रुपए, 34 कट्टे, कारतूस -बारूद समेत 1800 सामान गायब

भालचंद्र पर मारपीट और रंगदारी वसूलने का केस है
भालचंद्र यादव ने 21 मई 2020 को गौरी यादव गैंग के साथ मिलकर ग्राम जिल्लहा में रात के वक्त सौखीलाल कोरी व अन्य 2 लोगों के साथ मारपीट की थी. उनसे बीड़ी पत्ता तुड़वाने व ठेकेदारी करने के एवज में 50 हजार रुपए की मांग की थी. इसी मामले में थाना मझगवां में भालचंद्र पर केस दर्ज किया गया था. वह फरार चल रहा था. उस पर 5000 का इनाम घोषित था. बहिलपुरवा पुलिस थाने में भी उसके खिलाफ ऐसे ही एक मामले में एफआईआर दर्ज है.

WATCH LIVE TV