सगे भाई की हत्या के आरोप में फरार था बड़ा भाई, पूछताछ में किया चौंकाने वाला खुलासा

आरोपी पिछले ढाई साल से पुलिस को चकमा दे रहा था. लेकिन, आज आरोपी तक पुलिस पहुंची और उसे धरदबोचा. 

सगे भाई की हत्या के आरोप में फरार था बड़ा भाई, पूछताछ में किया चौंकाने वाला खुलासा
पुलिस ने अपने ही भाई की हत्या के आरोप में शख्स को किया गिरफ्तार.

दमोह: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के दमोह (Damoh) में पुलिस ने अपने ही भाई की हत्या के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया है. हैरान करने वाली बात ये है कि आरोपी की गिरफ्तारी ढाई साल बाद हुई है. बताया जा रहा है कि आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद से पुलिस को चकमा दे रहा था. लेकिन आज आरोपी तक पुलिस पहुंची और उसे धरदबोचा.

मामला दमोह जिले के पटेरा थाने के छेवला दुबे गांव का है. जहां एक शख्स ने 23 जून 2017 को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका भाई भूपेंद्र अठ्या कहीं लापता हो गया है. जिसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर तलाश शुरू दी. वहीं अगले ही दिन 24 तारीख को भूपेंद्र की लाश करीब 35 किलोमीटर दूर दमोह के सागर नाका के पास रेलवे ट्रेक पर मिली. पुलिस को पहले तो ये सामान्य हादसा या सुसाइड का मामला लगा. लेकिन, जब दमोह पुलिस ने गहराई से जांच की तो मामला कुछ और ही निकला. हत्या के इस मामले में कातिल कोई और नहीं बल्कि भूपेंद्र का बड़ा भाई बलिराम अठ्या निकला.

वहीं, आरोपी करीब ढाई साल तक पुलिस से भागता रहा. लेकिन आरोपी आखिर में पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया. आरोपी ने जब अपने भाई की हत्या के पीछे की वजह बताई तो हर कोई हैरत में पड़ गया. आरोपी ने बताया कि महज 16 साल का भूपेंद्र, अपनी भाभी को परेशान करता था. इतना ही नहीं वो छेड़छाड़ भी करता था. जिसके बाद छोटे भाई की हरकतों से तंग आकर उसने हत्या का प्लैन बनाया और छोटे भाई की हत्या कर दी.

आरोपी ने दमोह पुलिस के सामने पूरी कहानी और क़त्ल का तरीका, लाश ठिकाने लगाने की बात सिलसिलेवार तरीके से बता दी है.