close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दंतेवाड़ा की नम्रता जैन ने UPSC में हासिल की 12वीं रैंक, बोलीं- हमेशा से बनना चाहती थी कलेक्टर

उनका चयन भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के लिए हुआ था और वह फिलहाल हैदराबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण हासिल कर रही हैं. 

दंतेवाड़ा की नम्रता जैन ने UPSC में हासिल की 12वीं रैंक, बोलीं- हमेशा से बनना चाहती थी कलेक्टर
नमृता जैन

नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले की 25 वर्षीय एक युवती को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की तरफ से आयोजित सिविल सेवा की परीक्षा में 12वां रैंक प्राप्त हुआ है. दंतेवाड़ा जिला देश में नक्सलवाद से प्रभावित सबसे बुरे क्षेत्रों में से एक है. जिले के गीदम प्रांत की निवासी नम्रता जैन को 2016 की सिविल सेवा परीक्षा में 99वां रैंक हासिल हुआ था. उनका चयन भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के लिए हुआ था और वह फिलहाल हैदराबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण हासिल कर रही हैं. 

UPSC परीक्षा में सफल हुई वायनाड की आदिवासी लड़की, तो राहुल गांधी ने ऐसे दी बधाई

जैन ने कहा, ''मैं हमेशा से कलेक्टर बनना चाहती थी. जब मैं आठवीं कक्षा में थी, एक महिला अधिकारी मेरे स्कूल आई थी. बाद में मुझे पता चला कि वह कलेक्टर थी. मैं उनसे काफी प्रभावित हुई. उसी वक्त मैंने तय कर लिया था कि मैं कलेक्टर बनूंगी.'' जैन ने कहा कि कुछ समय पहले उनके कस्बे में एक पुलिस स्टेशन में नक्सलियों ने विस्फोट कर दिया था जिसने उन्हें सिविल सेवा में शामिल होकर गरीबों की सेवा करने और माओवाद प्रभावित क्षेत्र में विकास लाने के लिए प्रेरित किया था.

UPSC टॉपर कनिष्क कटारिया ने कहा: माता-पिता और गर्लफ्रेंड के सपोर्ट से किया टॉप

इस बार भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में चयन की उम्मीद कर रहीं जैन ने कहा, ''मैं जिस जगह से आती हूं वह नक्सलवाद से बुरी तरह प्रभावित है. वहां के लोगों के पास शिक्षा जैसी बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं. मैं अपने राज्य के लोगों की सेवा करना चाहती हूं.'' जैन ने कहा कि दंतेवाड़ा में विकास लाना वहां से नक्सलवाद का सफाया करने में मदद करेगा. (इनपुटः भाषा)