झाबुआ उपचुनाव में भी उठा कर्ज माफी का मुद्दा, सोशल मीडिया पर आमने-सामने BJP-कांग्रेस

बीजेपी और कांग्रेस सोशल मीडिया के जरिए अपने-अपने पक्ष को रखने की कोशिश में जुटी है. इसी कड़ी में कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के बेटे ने एक पोस्ट शेयर करते हुए कर्ज माफी की लिस्ट जारी की है.

झाबुआ उपचुनाव में भी उठा कर्ज माफी का मुद्दा, सोशल मीडिया पर आमने-सामने BJP-कांग्रेस
(फाइल फोटो)

भोपालः झाबुआ में विधानसभा उपचुनाव से ठीक पहले किसानों की कर्ज माफी पर बीजेपी और कांग्रेस एक बार फिर आमने-सामने है. 2018 में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव की ही तरह झाबुआ उपचुनाव में भी दोनों पार्टियों ने किसान कर्ज माफी को ही मुद्दा बनाया है, लेकिन इस बार ये लड़ाई सोशल मीडिया पर लड़ी जा रही है. बीजेपी और कांग्रेस सोशल मीडिया के जरिए अपने-अपने पक्ष को रखने की कोशिश में जुटी है. इसी कड़ी में कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के बेटे ने एक पोस्ट शेयर करते हुए कर्ज माफी की लिस्ट जारी की है.

दरअसल, कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाली है, जिसमें बीजेपी प्रत्याशी भानु भूरिया की माताजी के कर्ज माफी की लिस्ट जारी की है. जिसके बाद कृषि मंत्री सचिन यादव भी इस सोशल मीडिया वॉर में उतर गए और उन्होंने भी इसे लेकर ट्वीट कर दिया. हालांकि भानु भूरिया ने पलटवार करते हुए कहा है कि उनकी मां ने कोई लोन लिया ही नहीं था, कांग्रेस सिर्फ दुष्प्रचार कर रही है. 

देखें LIVE TV

CM कमलनाथ ने 'मैग्नीफिसेंट MP' का किया उद्घाटन, कार्यक्रम में शामिल होंगे 900 से अधिक उद्योगपति

वहीं भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में झाबुआ विधानसभा उपचुनाव के संबंध में एग्जिट पोल पर पाबंदी लगाई है. आयोग द्वारा निर्धारित समय के दौरान एग्जिट पोल के संचालन और उसके परिणामों के प्रसार पर प्रतिबंध रहेगा. आयोग ने 21 अक्टूबर सुबह 7 से शाम 6.30 बजे के बीच की अवधि को ऐसी अवधि के लिए अधिसूचित किया है. इस दौरान उप-निर्वाचनों के संबंध में एग्जिट पोल पर प्रतिबंध रहेगा.