PM मोदी की अपील के बावजूद MP में कई संविदाकर्मियों पर गिरी गाज, रोजी-रोटी का संकट

कर्मचारियों को निकालने जाने से संविदा कर्मचारी महासंघ में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है.

PM मोदी की अपील के बावजूद MP में कई संविदाकर्मियों पर गिरी गाज, रोजी-रोटी का संकट
फाइल फोटो

भोपाल: लॉकडाउन की वजह से चरमराई अर्थव्यवस्था में मध्य प्रदेश के संविदाकर्मियों की रोजी-रोटी पर खतरा मंडारने लगा है. कोरोना संकट की घड़ी में कर्मचारियों को नौकरी से न निकालने की प्रधानमंत्री मोदी की अपील के बावजूद प्रदेश में कई जगहों से संविदाकर्मियों की नौकरी जाने और वेतन काटे जाने के मामले सामने आ रहे हैं.

संविदा कर्मचारी महासंघ के मुताबिक कर्मियों को नौकरी से निकाला जा रहा है और उनका वेतन भी काटा जा रहा है. आपदा मोचन बल के संविदा कर्मी श्याम बिहारी शर्मा को नौकरी से निकाल दिया गया है. जबलपुर में भी CMHO ने 22 ANM को निलंबित किया है. इंदौर में नियमित ANM को छूट देकर संविदा ANM की ड्यूटी लगा दी है. शिवपुरी में भी जिला शिक्षा केंद्र की संविदा सहायक वॉर्डन को नौकरी से निकाला गया है.

कर्मचारियों को निकालने जाने से संविदा कर्मचारी महासंघ में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है. महासंघ के अध्यक्ष रमेश राठौर के मुताबिक उच्च अधिकारियों तक कर्मचारी बात नहीं पहुंचा पा रहे हैं, कर्मचारियों को नियम विरुद्ध हटाने का षड्यंत्र किया जा रहा है. मनमानी कर सीएम शिवराज के आदेश का लगातार उल्लंघन किया जा रहा है. महासंघ ने सीएम से संविदा कर्मचारियों की नौकरी बचाने के आदेश निकालने की मांग की है.