close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोपालः साइकिल चोर निकला सरकारी डॉक्टर, CCTV फुटेज में सामने आई करतूत

 डॉक्टर ने पिछले पांच महीनों में 7 साइकिलें उस गुरुनानकपुरा स्थित कंफर्ट होम अपार्टमेंट से चोरी कीं, जिसमें उसका घर था. 

भोपालः साइकिल चोर निकला सरकारी डॉक्टर, CCTV फुटेज में सामने आई करतूत
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ है चोर डॉक्टर

अजय शर्मा/(भोपाल): मध्यप्रदेश के भोपाल में पुलिस के हाथ एक साइकिल चोर डॉक्टर लगा है. पिछले कुछ अर्से से भोपाल के कई इलाकों में अचानक साइकिल चोरी की वारदातों में इजाफा हुआ है, जिसके चलते थाने में ही रोज इस तरह की वारदात आने लगी. पुलिस को शक था कि कबाड़ का काम करने वाले कहीं इस वारदात को अंजाम तो नहीं दे रहे हैं. तभी भोपाल की ऐशबाग पुलिस के हाथ एक सीसीटीवी फुटेज लग गया. जिसको आधार बनाकर पुलिस ने जांच की तो साइकिल चोरी करने के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ. सीसीटीवी वीडियो में एक डॉक्टर चोरी की वारदात को अंजाम देते हुए कैद हुआ है. डॉक्टर ने पिछले पांच महीनों में 7 साइकिलें उस गुरुनानकपुरा स्थित कंफर्ट होम अपार्टमेंट से चोरी कीं, जिसमें उसका घर था.

दिल्लीः बाजारों में बैंड बजाकर साफ कर दिए 151 मोबाइल, ऐसे हुआ पर्दाफाश

डॉक्टर का नाम निर्मल सिंह जाटव है. वह विदिशा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ है. जाटव की पत्नी भी सरकारी डॉक्टर है. उनका बेटा जीएमसी भोपाल से मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है. पुलिस ने जाटव के पास से चार साइकिलें जब्त कीं. हालांकि, उसने सात साइकिलें चुराने की बात कबूल की है. मामले का खुलासा कंफर्ट होम अपार्टमेंट में रहने वाले जितेंद्र सिंह छाबड़ा के बेटे की साइकिल चोरी होने के बाद हुआ. ऐशबाग थाना प्रभारी अजय नायर ने बताया कि छाबड़ा ने इस संबंध में एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसके बाद उन्होंने कैम्पस में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए. एक रात जब जाटव ने दूसरी साइकिल चोरी की तो वे सीसीटीवी में कैद हो गए थे.

मूर्ति चुराने वाले चोर ने लिखा भगवान को पत्र, कहा- 'हो सके तो माफ कर देना..Sorry'

फुटेज के आधार पर छाबड़ा ने जाटव पर संदेह किया, लेकिन जाटव इस बात को मानने को तैयार नहीं थे कि फुटेज में वे हैं. डॉक्टर अपार्टमेंट से साइकिल चोरी करके ट्रेन से विदिशा ले जाते थे. पुलिस ने इस पूरे मामले में पड़ताल तेज की तो उसने डॉक्टर को लगेज कोच में साइकिल रखते हुए देखा था. पुलिस ने जीआरपी के सीसीटीवी फुटेज निकाले, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थे कि फुटेज में वो है. इसके बाद एक टीम शमशाबाद स्वास्थ्य केंद्र रवाना की गई. पुलिस ने यहां से दो साइकिलें बरामद कीं ओर डॉक्टर ने भी पुलिस की पूछताछ में अपनी चोरी और चोरी के तौर तरीकों को स्वीकार कर लिया.