छत्तीसगढ़: देश सेवा में घर-परिवार से दूर हुए कोरोना वॉरियर्स, ये बना डॉक्टर्स का नया ठिकाना

डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वॉरियर्स बनकर देश को इस मुश्किल घड़ी से बचाने की कोशिश कर रहे हैं. इसकी वजह से उन्हें अपने घर परिवार से दूर रहना पड़ रहा है.

छत्तीसगढ़: देश सेवा में घर-परिवार से दूर हुए कोरोना वॉरियर्स, ये बना डॉक्टर्स का नया ठिकाना
फाइल फोटो

प्रकाश शर्मा/जांजगीर-चांपा: डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वॉरियर्स बनकर देश को इस मुश्किल घड़ी से बचाने की कोशिश कर रहे हैं. इसकी वजह से उन्हें अपने घर परिवार से दूर रहना पड़ रहा है. छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले में कुछ डॉक्टर्स और पैथोलाजिस्ट ने तो रेस्ट-हाउस को अपना ठिकाना बना लिया है.

पिछले 7 दिनों से डॉ अनिल जगत घर नहीं गए हैं, वे पैथोलाजिस्ट डॉ अश्वनी राठौर के साथ आईबी रेस्ट-हाउस में रह रहे हैं. इन दोनों के कंधे पर जिला हॉस्पिटल की बड़ी जिम्मेदारी है. ये दोनों अब तक 50 से ज्यादा मरीजों की जांच पड़ताल कर चुके हैं.

जांजगीर चांपा जिले में वैसे तो कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, मगर सावधानी बरतना जरूरी है. इसलिए वे घर से दूर आईबी रेस्ट-हाउस में रहते हैं. अब यही उनका घर बन गया है. खाना भी यहीं बनता है.

ये भी पढ़ें Corona से जंग: CM बघेल ने की PM मोदी से बात, सुझाव देने के साथ रखी ये डिमांड

डॉ अनिल जगत और डॉ. अश्वनी राठौर बताते हैं कि रेस्ट-हाउस से वे सीधे अस्पताल जाते हैं. उन्हें अपने परिजनों की चिंता रहती है कि कहीं घर जाने से उन्हें संक्रमण का खतरा ना हो, इसीलिए उन्होंने रेस्ट-हाउस को ही घर बनाया हुआ है.

WATCH LIVE TV: