MP: 10वीं की छात्रा ने बनाए ऐसे दस्ताने, मनचलों को देंगे जोर का झटका

 लड़कियों को आत्मरक्षक बनाने के लिए नीमच के मनासा तहसील के एक गांव जालिनेर की छात्रा ने अनोखी पहल की है. 

MP: 10वीं की छात्रा ने बनाए ऐसे दस्ताने, मनचलों को देंगे जोर का झटका
लड़कियों के दस्तानों से निकलेगा करंट

नीमच: महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा चिंता का विषय बना हुआ है, इससे निजात दिलाने और लड़कियों को आत्मरक्षक बनाने के लिए नीमच के मनासा तहसील के एक गांव जालिनेर की छात्रा ने अनोखी पहल की है. 10 वीं कक्षा में पढ़ने वाली डॉली ने ऐसे दस्ताने बनाएं हैं, जिसे छूते ही जोरदार करंट का झटका लगेगा. इन दस्तानों को बालिका सुरक्षा यंत्र नाम दिया गया है.

लड़कियों के दस्तानों से निकलेगा करंट
जालिनेर हाईस्कूल में पढ़ने वाली डॉली ने शिक्षक सुनील चौधरी के मार्गदर्शन में हाथों में पहनने वाले दस्तानों में करंट इजात किया है. हाथ की कलाई के पास लगी 9 वोल्टेज बैट्री को दस्तानों की ऊंगलियों पर लगे तांबे के पोर्ट से कनेक्ट किया गया है. लड़कियां दस्ताने पहने के बाद बैट्री का बटन ऑन कर गलत तरीके से छूने वालों को करंट देकर सबक सिखा सकती हैं. इस बालिका सुरक्षा यंत्र का खर्च 500 से 700 रूपये आता है. 

4 से 5 दिन तक चलती है बैट्री
डॉली गुर्जर ने बताया कि दस्तानों में बैट्री की क्षमता बढ़ाई जा सकती है, ताकि करंट का झटका जोर से लग सके. उन्होंने बताया कि कलाई के पास लगी बैट्री के सर्किट से ऊंगलियों के ऊपर लगे तांबे के पोर्ट से कनेक्ट कर जरूरत के मुताबिक ऑन ऑफ कर सकते हैं. बैट्री को एक बार चार्ज करने पर 4 से 5 दिन तक यूज कर सकते हैं.

हैदराबाद रेप की घटना के बाद आया विचार
 डॉली ने बताया कि हैदराबाद की घटना के बाद बालिका सुरक्षा को लेकर मन में विचार आया था, जिसके बाद बालिका सुरक्षा यंत्र को इजात किया गया.