सहेली से वीडियो कॉल के दौरान कनपटी पर रिवॉल्वर लगाकर बोली, देखते हैं किस्मत में क्या है और...

छात्रा ने अपनी सहेली को वीडियो कॉल किया और खेल-खेल में खुद पर गोली चला ली. बता दें करिश्मा एनसीसी में टॉपर थी और इसी दौरान उसे हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी. 

सहेली से वीडियो कॉल के दौरान कनपटी पर रिवॉल्वर लगाकर बोली, देखते हैं किस्मत में क्या है और...
प्रतीकात्मक तस्वीर

ग्वालियरः मध्य प्रदेश के ग्वालियर में मोबाइल पर गेम खेल रही 21 वर्षीय छात्रा ने अपनी सहेली से वीडियो कॉल के दौरान खेल-खेल में कनपटी पर गोली मार कर अपनी जान दे दी. ग्वालियर निवासी 21 वर्षीय करिश्मा अपने घर पर अकेली थी और मोबाइल पर गेम खेल रही थी. तभी उसने अपनी सहेली को वीडियो कॉल किया और उसको अपने पिता की रिवॉल्वर दिखाकर बोली कि इसके चेंबर में एक ही गोली है और मुझे भी नहीं पता कि वह गोली कहां है और छात्रा ने बुलेट चैंबर को घुमा दिया. इसके बाद रिवॉल्वर को कनपटी पर रखकर बोली 'देखते हैं कि मेरी किस्मत में मौत है या नहीं.' सहेली द्वारा कनपटी पर गोली तानने पर दिल्ली मेट्रो में सफर कर रही उसकी सहेली ने उसे ऐसा करने से मना किया. जिसके बाद छात्रा ने रिवॉल्वर नीचे रख दी.

ग्वालियरः बिरला नगर स्टेशन पर बुजुर्ग ने लगाई फांसी, 4 घंटे बाद उतारा गया शव

नेटवर्क न होने के कारण कट हो गया फोन
रिवॉल्वर नीचे रखने के बाद छात्रा ने थोड़ी ही देर में वापस रिवॉल्वर उठा ली और कनपटी पर तान ली. जिसके बाद छात्रा की सहेली ने उसे ऐसा करने के लिए मना किया, लेकिन मेट्रो में होने के कारण सहेली के फोन में नेटवर्क की समस्या हो रही थी. जिसके चलते कॉल कट हो गया और इसी समय में छात्रा ने रिवॉल्वर का ट्रिगर दबा दिया और गोली छात्रा के सिर में जा लगी. घटना के बाद घर पहुंच छात्रा के छोटे भाई ने घर का दरवाजा खटखटाया तो घर का दरवाजा नहीं खुला. जिसके बाद भाई घर की दीवार फांदकर अंदर गया और देखा तो छात्रा खून से लथपथ थी. 

लखनऊ: दरोगा ने सरकारी आवास पर गोली मारकर की खुदकुशी

छोटे भाई ने पहुंचाया अस्पताल
बहन को खून से लथपथ देख छात्रा के छोटे भाई ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन खून अधिक बह जाने के कारण छात्रा ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. बता दें घटना 7 सितंबर नारायण बिहार कॉलोनी की है. घटना के दौरान घर पर कोई नहीं था. मृतका के पिता अरविंद सिंह यादव सेना से रिटायर्ड सूबेदार हैं. उनके तीन बच्चों में करिश्मा (मृतका) को वह सबसे ज्यादा प्यार करते थे. ऐसे में बेटी की मौत से वह गहरे सदमे में हैं.

एनसीसी के दौरान मिली हथियार चलाने की ट्रेनिंग
मृतका के परिवार के मुताबिक 6 सितंबर को अरविंद और उनकी पत्नी चित्रकूट दर्शन के लिए गए थे. बड़ा बेटा आर्मी में है और इस समय अंबाला कैंट में पदस्थ है. जबकि बेटी ने दिल्ली से बीकॉम किया है. वहीं छोटा बेटा अभी स्कूल में कक्षा 6वीं में पढ़ता है. घटना के दौरान देव स्कूल गया था. जिसके बाद छात्रा घर में अकेली थी. इसी दौरान छात्रा ने अपनी सहेली को वीडियो कॉल किया और खेल-खेल में खुद पर गोली चला ली. बता दें करिश्मा एनसीसी में टॉपर थी और इसी दौरान उसे हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी.