छत्तीसगढ़ का हर थाना होगा 'आदर्श', DGP ने 128 थानेदारों को दिए ये निर्देश

छत्तीसगढ़ में 1 जुलाई से 'आदर्श थाना' और 'आदर्श थाना प्रभारी' योजना शुरू की जाएगी. इस विषय में शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के डीजीपी डीएम अवस्थी ने 128 थानेदारों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक ली.इस बैठक में एडीजी आर के विज, हिमांशु गुप्ता, दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा, रायपुर आईजी डॉ. आनंद छाबड़ा, एआईजी राजेश अग्रवाल, डीएसपी कवि गुप्ता उपस्थित रहे.

छत्तीसगढ़ का हर थाना होगा 'आदर्श', DGP ने 128 थानेदारों को दिए ये निर्देश
डीजीपी डीएम अवस्थी

रायपुर: छत्तीसगढ़ के सभी पुलिस थानों को 'आदर्श थाना' बनाने की पहल की जा रही है. प्रदेश में 1 जुलाई से 'आदर्श थाना' और 'आदर्श थाना प्रभारी' योजना शुरू की जाएगी. इस विषय में शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के डीजीपी डीएम अवस्थी ने 128 थानेदारों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक ली.

इस बैठक में एडीजी आर के विज, हिमांशु गुप्ता, दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा, रायपुर आईजी डॉ. आनंद छाबड़ा, एआईजी राजेश अग्रवाल, डीएसपी कवि गुप्ता उपस्थित रहे.डीजीपी अवस्थी ने सभी थाना प्रभारियों को कुछ मापदंडों के बारे में बताया और थानों में आमजन के साथ थाना प्रभारी और अन्य स्टाफ का व्यवहार कैसा होना चाहिए इसके बारे में बात की.

साथ ही उन्होंने पीड़ित व्यक्ति, महिलाएं और बच्चे के साथ विनम्र होकर बात करने की सलाह दी. डीजीपी ने कहा कि फरियादियों के साथ पुलिसकर्मी संवेदनशील व्यवहार रखें और उनकी समस्याओं का तत्काल समाधान करें. वहीं, डीजीपी ने कहा कि गुंडे-बदमाशों और असामाजिक तत्वों के विरुद्ध पुलिस द्वारा कठोरतम कार्रवाई की जाए.

ये भी पढ़ें-भाजपा ने कमलनाथ को बताया 'चीन का एजेंट', कांग्रेस ने कहा- पहले अपने गिरेबान में झांक लें

उहोंने थाने में रिकॉर्ड के रखरखाव को अच्छा करने की सलाह दी. डीजीपी ने कहा कि थाना परिसर का वातावरण ऐसा होना चाहिए कि प्रवेश करने वाले के मन में सकारात्मक प्रभाव पड़े. उन्होंने सभी थाना प्रभारियों से आपस में स्वस्थ्य प्रतियोगिता रखने को भी कहा. डीजीपी ने कहा कि इन प्रक्रियाओं को अपनाने और लागू करने से ज्यादा से ज्यादा पुलिस थाने आदर्श बन सकेंगे.

Watch LIVE TV-