close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मंदसौर किसान आंदोलन की आंच पहुंची भोपाल, प्रदर्शनकारियों ने वाहनों में लगाई आग

मंदसौर के किसान आंदोलन की आंच शुक्रवार को भोपाल पहुंच गयी. यहां प्रदर्शनकारियों ने भोपाल-इंदौर हाईवे पर जाम लगाने की कोशिश की. आंदोलनकारियों को समझाने के लिए जब पुलिस वहां पर पहुंची तो वे पुलिस पर पथराव करने लगे. प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े. इसके बाजवूद आंदोलनकारियों ने पथराव जारी रखा. इस पर पुलिस ने कई आंदोलनकारियों की पिटायी की. प

मंदसौर किसान आंदोलन की आंच पहुंची भोपाल, प्रदर्शनकारियों ने वाहनों में लगाई आग
धार और शाजापुर में भी हुआ प्रदर्शन.

नई दिल्ली : मंदसौर के किसान आंदोलन की आंच शुक्रवार को भोपाल पहुंच गयी. यहां प्रदर्शनकारियों ने भोपाल-इंदौर हाईवे पर जाम लगाने की कोशिश की. आंदोलनकारियों को समझाने के लिए जब पुलिस वहां पर पहुंची तो वे पुलिस पर पथराव करने लगे. प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े. इसके बाजवूद आंदोलनकारियों ने पथराव जारी रखा. इस पर पुलिस ने कई आंदोलनकारियों की पिटायी की. प

प्रदर्शनकारियों द्वारा कई वाहनों में आग लगाने की भी खबरें हैं. गौरतलब है कि मंदसौर आंदोलन की आंच धीर-धीरे राज्य के अन्य इलाकों में पहुंचती दिख रही है.

शाजापुर और धार जिलों में आगजनी और चक्काजाम

शुक्रवार को पश्चिम मध्यप्रदेश के धार और शाजापुर जिलों में आगजनी की दो वारदातें हुयी, जबकि आंदोलन के मुख्यकेन्द्र मंदसौर जिले में कल की तुलना में आज शांति रही तथा आरएएफ की निगरानी में यहां कर्फ्यू में कुछ समय के लिये ढील दी गयी.

रतलाम-चित्तौड़गढ़ रेलखंड के मंदसौर रेलवे स्टेशन पर आज रेल यातायात सामान्य रुप से बहाल कर दिया गया. पश्चिम रेलवे के रतलाम मंडल के प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने कहा कि रेल यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर पश्चिम रेलवे ने मंदसौर स्टेशन पर कल रेल यातायात बंद किया था.

किसानों का आक्रोश आज पश्चिमी मध्यप्रदेश में कुछ कम हुआ लेकिन किसानों का विरोध प्रदर्शन प्रदेश के महाकौशल क्षेत्र के छिंदवाड़ा और बुंदेलखंड इलाके के सागर जैसे अन्य हिस्सों में फैल गया. प्रदेश में किसान पिछली एक जून से ऋण माफी और कृषि उत्पादों के उचित दाम सहित अन्य मांगों के लिये आंदोलनरत हैं.

पुलिस फायरिंग में हुई पांच किसानों की मौत 

गत मंगलवार 6 जून को मंदसौर जिले में पुलिस फायरिंग में पांच किसानों की मौत के बाद पश्चिमी मध्यप्रदेश के कई जिलों में हिंसा भड़क गयी थी. पुलिस के हाई अलर्ट के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने शाजापुर और धार जिलों में आगजनी और चक्काजाम किया.

पुलिस द्वारा नीमच जिले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लिये जाने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में कुछ स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया. मंदसौर में कल मारे गये पांच किसानों के परिवारों से शोक संवेदना व्यक्त करने राहुल मंदसौर जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें राजस्थान-मध्यप्रदेश की सीमा पर नीमच जिले के नयागांव में हिरासत में ले लिया और बाद में रिहा कर दिया.