फसल खरीदी के लिए उपार्जन केंद्र आए किसान परेशान, किया चक्का जाम

राजगढ़ जिले के माचलपुर में 22 मई को उपार्जन केंद्र पर उपज बेचने आये किसानों ने हंगामा कर दिया. इसके बाद सैकड़ों किसानों ने माचलपुर के स्टेट हाइवे पर चक्का जाम लगा दिया.रात तक किसान इसी तरह सड़क पर बैठे रहे. जिसके बाद तहसीलदार ने मौके पर पहुंच कर किसानों को समझाया और उन्हें वापस भेजा.

फसल खरीदी के लिए उपार्जन केंद्र आए किसान परेशान, किया चक्का जाम
प्रतीकात्मक तस्वीर

राजगढ़: मध्य प्रदेश में इस साल गेहूं की बंपर पैदावार हुई है. जिसके कारण शासन किसानों की उपज खरीदने में समय लगा रहा है. किसान उपार्जन केंद्रों पर अपनी फसले लेकर पहुंच तो रहे हैं, लेकिन उनकी फसल खरीदी नहीं जा रही है. इस बात से नाराज होकर राजगढ़ जिले के माचलपुर में 22 मई को उपार्जन केंद्र पर उपज बेचने आये किसानों ने हंगामा कर दिया. इसके बाद सैकड़ों किसानों ने माचलपुर के स्टेट हाइवे पर चक्का जाम लगा दिया. रात तक किसान इसी तरह सड़क पर बैठे रहे. जिसके बाद तहसीलदार ने मौके पर पहुंच कर किसानों को समझाया और उन्हें वापस भेजा.

ये भी पढ़ें-MP में 1 सितंबर से शुरू हो सकते हैं स्कूल-कॉलेज, मेरिट के आधार पर होंगे एडमिशन

किसानों का आरोप है कि मोबाइल पर मैसेज आने के बाद वह अपनी उपज लेकर भाड़े का वाहन के साथ दो-तीन दिन से उक्त केंद्र पर उपज बेचने का इंतजार कर रहे है. लेकिन, माचलपुर उपार्जन केंद्र पर बारदान व तोल कांटे की कमी होने के कारण अभी तक हमारी उपज की तुलाई नहीं हुई है. जिसकी वजह से भरी गर्मी में किसान यहां परेशान हो रहे हैं.

किसानों का कहना है कि वे लोग भाड़े की गाड़ियों में रोज यहां उपज लेकर आ रहे हैं, जिससे गाड़ियों का भाड़ा भी प्रतिदिन बढ़ रहा है.

जीरापुर तहसीलदार सौरभ शर्मा का कहना है कि सूचना मिलने के बाद वह मौके पर पहुंचे और किसानों को आश्वासन देकर और समझाकर चक्का जाम हटवाया गया.

सौरभ शर्मा ने बताया कि पहले उपार्जन केंद्र पर चार कांटों पर तुलाई चल रही थी. अब 4 कांटो की जगह 10 कांटे लगवा कर तुलाई की जाएगी. वही जल्दी उपार्जन केंद्र पर पर्याप्त मात्रा में बारदान की भी व्यवस्था की जाएगी.

Watch LIVE TV-