गरीबी ने लाचार पिता को मरने पर कर दिया मजबूर, 2 मासूमों के साथ कर ली खुदकुशी

जानकारी के अनुसार गांव में रहने सुरेश ने पहले अपने दोनों बेटों को फांसी लगाकर मारा फिर खुद भी खुदकुशी कर ली. दोनों बेटों की उम्र 5 से 7 साल की थी. घटना का खुलासा तब हुआ जब बच्चों की मां ने अपने मासूमों को फंदे पर लटकता हुआ देखा.

गरीबी ने लाचार पिता को मरने पर कर दिया मजबूर, 2 मासूमों के साथ कर ली खुदकुशी
प्रतीकात्मक तस्वीर

कमल सिंह सोलंकी/धार: कोरोना काल में उद्योग धंधे मंदे होने का असर सबसे ज्यादा गरीबों पर पड़ रहा है. आर्थिक तंगी के कारण लोग आत्महत्या जैसे घातक कदम उठा रहे हैं. धार के गंधवानी थाना क्षेत्र के गांव मुजाल्दा में भी तीन लोगों की मौत से सनसनी फैल गई.

जानकारी के अनुसार गांव में रहने सुरेश ने पहले अपने दोनों बेटों को फांसी लगाकर मारा फिर खुद भी खुदकुशी कर ली. दोनों बेटों की उम्र 5 से 7 साल की थी. घटना का खुलासा तब हुआ जब बच्चों की मां ने अपने मासूमों को फंदे पर लटकता हुआ देखा. इसके बाद मृतक की पत्नी ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. लोगों की मानें तो आर्थिक तंगी से परेशान होकर सुरेश ने यह खौफनाक कदम उठाया.

किसान की मौत मामले ने पकड़ा तूल, परिजनों के साथ धरने पर बैठे शिवराज के मंत्री

काम-धंधा चौपट होने पर उठाया कदम!
घटना के बाद स्थानीय लोगों ने कहा कि मृतक की आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो गई थी. कोरोना में लगे लॉकडाउन से आदिवासी क्षेत्रों में रोजगार की समस्या बढ़ गई है. लोगों के पास कमाने का जरिया नहीं है जिसके कारण आर्थिक हालत बद से बदतर हो रहे हैं. शायद इसी से तंग आकर शख्स ने अपने बच्चों को पहले जान से मारा और फिर खुद को फांसी से लटका लिया. 

मौत की वजह तलाश रही पुलिस 
पुलिस से इस मामले में आत्महत्या की थ्योरी के साथ हत्या के एंगल से भी जांच कर रही है. पुलिस का कहना है कि जल्द ही मौत की असल वजह सामने आ जाएगी. मामला दर्ज कर जांच में की जा रही है.