आगर-मालवा के टिल्लर डैम में नाव पलटने से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की डूबकर मौत

गांव लाखखेड़ी निवासी महिलाएं और बच्चे पास के ही पचेटी गांव में आयोजित एक मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे. वापसी के दौरान लकड़ी की डोंगी में बैठकर डैम पार कर रहे थे. डोंगी इसी दौरान गहरे पानी में पलट गई और उसमें सवार 3 बच्चों सहित दो महिलाओं की डूबने से मौत हो गई. 

आगर-मालवा के टिल्लर डैम में नाव पलटने से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की डूबकर मौत
टिल्लर डैम में नाव पलटने से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की डूबकर मौत हो गई.

आगर: मध्य प्रदेश के आगर-मालवा जिले में स्थित टिल्लर डैम में बुधवार को एक बड़ा हादसा हो गया. एक परिवार छोटी नाव में बैठकर बाड़ी माता मंदिर जा रहा था. कानड़ थाना क्षेत्र में ग्राम लाखखेड़ी के पास टिल्लर डैम में नाव पलट गई, जिसमें परिवार के पांच सदस्यों की डूबने से मौत हो गई. घटना की जानकारी होने पर ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर बड़ी मशक्कत के बाद शवों को डैम से बाहर निकाला. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नवल सिंह सिसोदिया, एसडीओपी ज्योति उमठ, कानड़ थाना प्रभारी हरीश जेजूरकर सहित अन्य पुलिस बल मौके पर पहुंचा और शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा.

रेलिंग पर बैठकर फोन से बात कर रही थी छात्रा, बिगड़ गया संतुलन, तीसरी मंजिल से गिरकर मौत

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर दुख प्रकट किया है. उन्होंने ट्वीट किया, ''आगर-मालवा जिले के टिल्लर डैम में डूबने से हुई पांच नागरिकों की मृत्यु का दुःखद समाचार मिला. ईश्वर उनकी आत्माओं को शांति दें और परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति दें. मैंने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता तथा 5 हजार रुपये की अंत्येष्टि सहायता देने के निर्देश दिए हैं.''

दिल्ली दौरे से लौटे CM शिवराज, मध्य प्रदेश आ रहीं राज्यपाल, क्या होगा मंत्रिमंडल विस्तार?

मांगलिक कार्यक्रम से लौट रहे थे
गांव लाखखेड़ी निवासी महिलाएं और बच्चे पास के ही पचेटी गांव में आयोजित एक मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे. वापसी के दौरान लकड़ी की डोंगी में बैठकर डैम पार कर रहे थे. डोंगी इसी दौरान गहरे पानी में पलट गई और उसमें सवार 3 बच्चों सहित दो महिलाओं की डूबने से मौत हो गई. हादसे से अनजान परिजनों ने काफी समय तक महिलाओं और बच्चों के घर नहीं लौटने पर अपने रिश्तेदारों से जानकारी ली. पता चला कि वे सब बहुत पहले ही घर के लिए​ निकले थे. परेशान होकर परिजनों ने खोजबीन शुरू की. इसी दौरान डैम से दो बच्चों के शव बरामद किए गए. बाद में अन्य तीन शव भी बरामद कर लिए गए.

कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ MP के किसानों का भी दिल्ली कूच, साथ ले गए 6 महीने का राशन-पानी

WATCH LIVE TV