कमलनाथ बोले- `बेहद झूठी पार्टी` है BJP, कभी सुशांत रिया में अटकाया, अब ड्र्ग्स में भटकाया

कमलनाथ ने बताया कि प्रदेश में 32 लाख किसानों का कर्जमाफ होना था, जिनमें से 27 लाख किसानों का कर्जमाफ हो चुका था. लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा की गई लोकतंत्र की हत्या से सरकार गिरा दी गई और बाकी किसानों की कर्जमाफी नहीं हो सकी.

कमलनाथ बोले- `बेहद झूठी पार्टी` है BJP, कभी सुशांत रिया में अटकाया, अब ड्र्ग्स में भटकाया

भोपालः कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने केन्द्र और प्रदेश सरकार को घेरते हुए निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि भाजपा की प्रदेश और केन्द्र सरकार दोनों ही झूठी है और जनता को मुद्दों से भटकाने का काम करती है. उन्होंने कहा है कि प्रदेश सरकार ने पहले कर्जमाफी पर जनता से झूठ बोला और फिर गलती स्वीकारते माना कि कांग्रेस ने 26 लाख किसानों का कर्जमाफ किया है. उन्होंने कहा कि देश की जनता को सुशांत और ड्रग्स दिखाकर भटकाया जा रहा है. 

शिवराज सरकार ने स्वीकारा, कमलनाथ सरकार में हुआ था किसानों का कर्जा माफ

सुशांत, रिया और ड्रग्स से भटकाया जा रहा
कमलनाथ ने केन्द्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि सरकार जनता को मुद्दों से भटका रही है. उनके पास काम के नाम पर दिखाने के लिए कुछ बचा नहीं है, मोदी सरकार को सिर्फ भटकाना ही आता है. उन्होंने आरोप लगाया है कि कभी सुशांत आत्महत्या की बात तो कभी रिया और ड्रग्स का मुद्दा चलाकर देश को गुमराह किया जा रहा है. कांग्रेस ने जनता पार्टी पर हमला बोलते हआ 'बीजेपी' को 'बेहद झूठी पार्टी' बताया है.

शिवराज सरकार ने विधानसभा में स्वीकारा था हुई है कर्जमाफी
मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार के दौरान किसानों का कर्ज माफ किया गया था. इस बात को शिवराज सरकार ने विधानसभा में स्वीकार किया था. विधानसभा सत्र के दौरान कृषि मंत्री कमल पटेल ने लिखित में जवाब देते हुए कहा था कि कमलनाथ सरकार के दौरान 51 जिलों में दो चरणों में किसान कर्जमाफी की गई थी. पहले चरण की कर्जमाफी 27 दिसंबर 2019, जबकि इसके बाद दूसरे चरण की कर्जमाफी की गई थी. इस दौरान किसानों का 1 लाख रुपए तक का कर्ज माफ किया गया था. 

कर्जमाफी की किचकिच पर आप भी कन्फ्यूज हैं, तो आइए क्लियर करते हैं क्या है कर्जमाफी का झमेला

धर्म आस्था का विषय, वोट का नहीं
कमलनाथ ने साथ ही बताया कि प्रदेश में 32 लाख किसानों का कर्जमाफ होना था, जिनमें से 27 लाख किसानों का कर्जमाफ हो चुका था. लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा की गई लोकतंत्र की हत्या से सरकार गिरा दी गई और बाकी किसानों की कर्जमाफी नहीं हो सकी. उन्होंने राम मंदिर पर कहा भाजपा के पास मुद्दें नहीं बचे हैं, इसलिए राम मंदिर निर्माण और ड्रग्स का मुद्दा बनाया जा रहा है. साथ ही कहा कांग्रेस के लिए धर्म आस्था का विषय है चुनाव जीतने का माध्यम नहीं. 

WATCH LIVE TV