close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ में अनाज व्यापारियों से 1 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी, आरोपी गिरफ्तार

रकम वापस करने का विश्वास दिलाकर आरोपी ने दो लाख 50 हजार और दो लाख 57 हजार 500 रुपये का चेक दिया, जो बाउंस हो गया.

छत्तीसगढ़ में अनाज व्यापारियों से 1 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी, आरोपी गिरफ्तार
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

रायपुरः अनाज व्यापारियों से अनाज दिलाने का झांसा देकर एक करोड़ रपये से अधिक की धोखाधड़ी करने वाले एक व्यक्ति को आजाद चौक थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार, आरोपी ने छत्तीसगढ़ के पांच व्यापारियों से कुल एक करोड़ सात लाख 270 रुपये की धोखाधड़ी की है. आरोपी अनाज का सौदा कर व्यापारियों से रकम लेता, लेकिन अनाज नहीं देता था. पुलिस के अनुसार, रायपुर के आजाद चौक थाना इलाके के मामले में राठौर चौक निवासी पुरनलाल अग्रवाल (72) ने पुलिस में दर्ज शिकायत में बताया था कि वह बालाजी ग्रेन्स रामसागरपारा का संचालक है.

अनाज के घोटालेबाजों को ढूंढेगी STF, योगी सरकार ने दिए आदेश

पुरनलाल ने बताया कि उसके फर्म से अनाज, दाल, दलहन और शक्कर का थोक क्रय-विक्रय होता है. साथ ही एजेंट के माध्यम से भी सामान खरीदने-बेचने का काम होता है. शिकायत के अनुसार, अग्रवाल ने स्थानीय एजेंट अमर के माध्यम से किशोर मारुति वाडेकर संचालक 'हेमंत शुगर' मांजल गांव, जिला बीड, महाराष्ट्र को मौखिक सौदा का ऑर्डर दिया था. इसके संदर्भ में 10 अप्रैल, 2017 को आरटीजीएस के माध्यम से कुल नौ लाख 57 हजार 500 रुपये दिए गए. रुपये मिलने के बाद भी आरोपी ने शक्कर देने में हीला-हवाली किया. रकम वापस करने का विश्वास दिलाकर आरोपी ने दो लाख 50 हजार और दो लाख 57 हजार 500 रुपये का चेक दिया, जो बाउंस हो गया.

खरीफ सीजन में होगी बंपर पैदावार, उत्पादन 14.16 करोड़ टन रहने का अनुमान

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि पीड़ित की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया गया, और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है. अधिकारी ने बताया कि इसके अतिरिक्त आरोपी ने खमतराई थाना इलाके के अशोक कुमार मित्तल से 57 लाख 52 हजार 900 रुपये, थाना मौदहापारा के केवल सिंह धुप्पड़ से 16 लाख 8 हजार 550 रुपये, तारबहार थाना बिलासपुर के किशनचंद वाधवानी से 13 लाख 31 हजार 320 रुपये और कोरबा के मनोहर लाल किशोर कुमार से 10 लाख 50 हजार रुपये की धोखाधड़ी की.