एक्टर सुशांत सिंह के बारे में कहा, 'पंखा कोई फांसी लगाने की चीज है', फिर एकलौते भाई ने उसी से की आत्महत्या

घर में जब पिछले दिनों दीवाली की सफाई हो रही थी, तो पंखा साफ करते गगन ने एक्टर सुशांत सिंह का जिक्र बहन से करते हुए बोला था की ये पंखा भी कोई सुसाइड की चीज है.

एक्टर सुशांत सिंह के बारे में कहा, 'पंखा कोई फांसी लगाने की चीज है', फिर एकलौते भाई ने उसी से की आत्महत्या
फाइल फोटो

भोपाल/प्रमोद शर्मा: राजधानी भोपाल में एक युवक ने जिद के चलते जान दे दी. भोपाल के वगसेवनिया थाना क्षेत्र के साकेत नगर का यह पूरा मामला है, जहां छोटी सी बात से युवक इतना नाराज हुआ कि उसने आत्महत्या जैसा बड़ा कदम उठा लिया. 

मास्क से मसखरी महंगीः पुलिस को देख रोड पर लेट गया, एक युवक को जवान ने उठाकर गाड़ी में बैठा दिया

दरअसल मृतक गगन के पास दोस्तों का फोन आया जिसके बाद गगन ने बाहर जाने के लिए पिता से कार की चाबी मांगी थी, लेकिन पिता ने कार की चाबी देने से इंकार कर दिया. कार की चाबी को लेकर मृतक गगन और घरवालों में बहस हुई अंत में सभी घरवाले चुप हो गए और गगन ने अपने कमरे जाकर फांसी लगा ली.

मां कमरे में गई तो पता चला
बहस की देर रात जब मां कमरे की लाइट बंद करने गईं तो देखा बेटा पंखे से लटका हुआ था. गगन दो बहनों का इकलौता भाई था. वह घर के सभी परिवारों का ध्यान रखता था.

Exclusive: जो भिखारी निकला था डीएसपी का बैचमेट, सगे भाई सुना रहे हैं उनकी अनसुनी दास्तान

बदल गया था एकदम
पुलिस को दिए परिजनों के बयान में यह सामने आया है की कुछ दिनों से वो बदल सा गया था. शायद गलत दोस्तों की संगत की वजह से ऐसा हुआ. घर में जब पिछले दिनों दीवाली की सफाई हो रही थी, तो पंखा साफ करते गगन ने एक्टर सुशांत सिंह का जिक्र बहन से करते हुए बोला था की ये पंखा भी कोई सुसाइड की चीज है. बेचारा, कैसे झेलता होगा इतना वजन. गगन ने तो ये भी कहा था कि मरना क्यों है, जीकर भी तो जिंदगी को एंजॉय किया जा सकता है, लेकिन इसके बमुश्किल 10 दिन बाद उसने पंखे से ही लटककर अपनी जान दे दी.

कांग्रेस की गुटबाजी पर कैलाश विजयवर्गीय का तंजः अगर पट्ठावाद खत्म हो जाएगा तो कांग्रेस ही नहीं रहेगी

कई सपने थे गगन के
गगन की मां ने कहा उसे फोटो खींचने का बड़ा शौक था, मुझसे वादा भी किया था. मेरी नौकरी लग जाएगी, फिर तुम्हें पूरा देश घुमाऊंगा. बेटा व्रत वाले दिन अपने हाथ से उन्हें पूड़ी सब्जी बनाकर भी खिलाता था. बड़ी बहन के पास इंदौर जाकर पोस्ट ग्रेजुएशन करने का भी प्लान था. गगन का कमरा पूरा किताबों से ही भरा हुआ है.

WATCH LIVE TV