उज्जैन के महाकाल मंदिर के गर्भगृह में घुसा बारिश का पानी

पिछले तीन दिन से उज्जैन में हो रही लगातार तेज बारिश से विश्वप्रसिद्ध एवं देश के बारह ज्यार्तिलिंगों में एक महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह तक में बारिश का पानी प्रवेश कर गया। संभवत: ऐसा पहली बार हुआ है जब महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह में बारिश का पानी भरा हो।

उज्जैन के महाकाल मंदिर के गर्भगृह में घुसा बारिश का पानी

उज्जैन (मध्यप्रदेश): पिछले तीन दिन से उज्जैन में हो रही लगातार तेज बारिश से विश्वप्रसिद्ध एवं देश के बारह ज्यार्तिलिंगों में एक महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह तक में बारिश का पानी प्रवेश कर गया। संभवत: ऐसा पहली बार हुआ है जब महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह में बारिश का पानी भरा हो।

महाकाल मंदिर प्रशासन समिति के एक अधिकारी ने आज बताया, ‘भारी बारिश की वजह से महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह और नंदी हाल में बारिश का पानी प्रवेश कर गया। मंदिर के पुजारियों को आज तड़के पानी में खड़े होकर ही महाकाल की ‘भस्म आरती’ करनी पड़ी।’ महाकाल मंदिर के एक पुजारी ने दावा किया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह में बारिश का पानी आया हो।

उज्जैन के जिलाधिकारी और महाकालेश्वर मंदिर प्रशासन समिति के प्रमुख कवीन्द्र कियावत ने कहा कि जिले में भारी बारिश की वजह से सुबह महाकाल मंदिर के गर्भगृह में पानी प्रवेश कर गया। पम्प की सहायता से पानी निकाला गया और संबंधित अधिकारियों को ऐसी व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिये गये हैं कि गर्भगृह में फिर से बारिश का पानी न आ सके।

मूसलाधार बारिश की वजह से शहर में 5,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया तथा शहर के स्कूल पिछले दो दिनों से बंद हैं। मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार उज्जैन जिले में पिछले तीन दिनों में 25 इंच से अधिक बारिश दर्ज की गयी है।