गांधी परिवार से SPG सुरक्षा हटाए जाने के खिलाफ याचिका खारिज, याचिकाकर्ता पर लगा 25 हजार का जुर्माना

कोर्ट ने याचिकाकर्ता एडवोकेट उमेश बोहरे को खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि यह याचिका सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए लगाई गई है. 

गांधी परिवार से SPG सुरक्षा हटाए जाने के खिलाफ याचिका खारिज, याचिकाकर्ता पर लगा   25 हजार का जुर्माना
(फाइल फोटो)

ग्वालियर: ग्वालियर (Gwalior) के एक वकील ने गांधी परिवार से SPG सुरक्षा हटाए जाने के सरकार के फैसले के खिलाफ मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High Court) की ग्वालियर बेंच में याचिका दायर की थी. कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए याचिकाकर्ता वकील पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगा दिया. कोर्ट ने याचिकाकर्ता एडवोकेट उमेश बोहरे को खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि यह याचिका सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए लगाई गई है. 

आपको बता दें कि गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाने पर दाखिल इस याचिका में याचिकाकर्ता वकील ने पीएमओ, गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय सहित 6 लोगों को पार्टी बनाया था. याचिका खारिज करते हुए कोर्ट ने याचिकाकर्ता पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगा दिया. वकील उमेश बोहरे ने जनहित याचिका दायर कर एसपीजी सुरक्षा को हटाने पर सवाल उठाए थे.

लाइव टीवी देखें

 
कांग्रेस ने राज्यसभा में किया हंगामा

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से SPG सुरक्षा वापस ल ले ली है. केंद्र सरकार के निर्णय के खिलाफ कांग्रेस ने बुधवार (20 नवंबर) को राज्यसभा में प्रदर्शन किया और सरकार से उनकी सुरक्षा बहाल करने की मांग की. पार्टी नेता आनंद शर्मा ने कहा कि चारों नेताओं की एसपीजी सुरक्षा बहाल किया जाना राष्ट्रहित में है. शर्मा ने कहा कि पार्टी के चारों नेताओं की व्यक्तिगत सुरक्षा, और जीवन को खतरा है और सरकार को पक्षपातपूर्ण राजनीति से ऊपर उठकर इन नेताओं की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की जरूरत है.

क्या है SPG सुरक्षा
SPG सुरक्षा व्यवस्था देश की सबसे उच्च स्तर की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेता है. यह कोई हमलावर फोर्स नहीं बल्कि रक्षात्मक बल है. इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है. इसके जवानों का चुनाव पारामिलिट्री फोर्स यानी CRPF, BSF, ITBP और CISF के चुनिंदा जवानों में से किया जाता है. SPG के जवानों के पास नवीनतम तकनीक से लैस हथियार होते हैं. जवानों के पास Fully automated FNF-2000 की assault rifles होती है. कमांडो एक पिस्टल भी साथ रखते हैं और सेफ्टी के लिए बुलेटप्रुफ जैकेट्स भी पहनते हैं. इसके अलावा किसी भी तरह के खतरे को भांप सकने के लिए एक खास तरह का चश्मा भी लगाते हैं.