MP: बिजली बिल का कोर्ट से नोटिस मिलने से दुखी किसान ने कुएं में कूदकर की आत्महत्या

हरदा जिले में बिजली बिल जमा करने के लिए अदालती नोटिस मिलने से दुखी होकर एक किसान ने कुएं में कूदकर कथित रूप से जान दे दी.

MP: बिजली बिल का कोर्ट से नोटिस मिलने से दुखी किसान ने कुएं में कूदकर की आत्महत्या
किसान ने की आत्महत्या (प्रतीकात्मक फोटो)

हरदा (मध्यप्रदेश): हरदा जिले में बिजली बिल जमा करने के लिए अदालती नोटिस मिलने से दुखी होकर एक किसान ने कुएं में कूदकर कथित रूप से जान दे दी. हरदा के पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने बताया, ‘‘हंडिया थाने के ग्राम अबगांव कला के किसान दिनेश पांडेय (60) ने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली. ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसके शव को कुएं से सोमवार सुबह निकाला और पोस्टमॉर्टम के लिए हरदा अस्पताल भेजा.’’ 

इसी बीच, मृतक किसान के पुत्र संजय पांडेय ने मीडिया को बताया, ‘‘तीन दिन पहले डायल 100 से पुलिसकर्मी हमारे घर पर आए थे. उन्होंने पिताजी को 9,111 रुपये का बिजली बिल जमा करवाने का अदालती नोटिस तामील कराया था. नोटिस के अनुसार यह बिल जमा करने की अंतिम तिथि 12 दिसंबर थी. तभी से मेरे पिताजी परेशान थे और मानसिक दबाब में थे. इसी के चलते उन्होंने अपनी जान दे दी.’’ संजय ने कहा कि मेरे पिताजी रविवार दोपहर से लापता थे. परिजन और ग्रामीण कल से ही उनकी तलाश कर रहे थे. सोमवार सुबह उनका शव कुएं में तैरता हुआ मिला.

मध्य प्रदेश में 124 दिनों में 124 किसानों ने आत्महत्या की

हालांकि, पुलिस अधीक्षक सिंह ने कहा, ‘‘घटना के संबंध में हंडिया पुलिस थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है. मौके पर तहसीलदार और थाना प्रभारी को भेजा है. फिलहाल मौत का कारण अज्ञात है.’’