close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: नर्मदा का रौद्ररूप बना मुसीबत, डूबे मंदिर और घाट, जारी हुआ रेड अलर्ट

इंदौर-इच्छापुर जोड़ने वाले मेहताखेड़ी का दहीखाल नाले में नर्मदा का पानी दस फिट बढ़ने से आठ गांव का संपर्क टूटा गया है. लोगों को आवाजाही के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है.

MP: नर्मदा का रौद्ररूप बना मुसीबत, डूबे मंदिर और घाट, जारी हुआ रेड अलर्ट
खरगोन में नर्मदा नदी (फोटो साभारः Zee news)

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के बड़वाह में नर्मदा नदी खतरे के निशान से पानी छह फीट ऊपर तक पहुंच गया हैं. बड़वाह पुल डूबने में लगभग तीन फीट दूर है. एक मीटर नर्मदा का जलस्तर बढ़ते ही पुल पूरी तरह से डूब जाएगा, हालांकि प्रशासन ने बड़वाह नर्मदा पुल से तीन दिनों से आवाजाही बन्द कर रखी है. बता दें कि जल स्तर बढ़ने से जुड़ने वाले नदी-नाले में नर्मदा जल भराव बढ़ता जा रहा है. इंदौर-इच्छापुर जोड़ने वाले मेहताखेड़ी का दहीखाल नाले में नर्मदा का पानी दस फिट बढ़ने से आठ गांव का संपर्क टूटा गया है. लोगों को आवाजाही के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है.

महेश्वर, मण्डलेश्वर, सनावद और कसरावद में भी मंदिर और घाट हुए जलमग्न हो गए हैं. प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी किया हैं. नर्मदा के निचले क्षेत्रों से लोगों को हटाया जा रांझा हैं. मण्डलेश्वर में प्राचीन कालभैरव मन्दिर पूरा डूबा गया है. सिर्फ मन्दिर का झंडा दिखाई पड़ रहा है. यही पर नर्मदा नदी से तीस फिट दूर राम मंदिर की सीढ़ियों तक नर्मदा का पानी पहुंच गया है. प्राचीन गुप्तेश्वर महादेव मंदिर का तल घर पूरी तरह जलमग्न हो गया है.

MP: बारिश से परेशान लोगों ने कराया मेंढक-मेंढकी का तलाक, पहले करवाई थी शादी

Khargone Weather Forecast

बता दें कि महेश्वर में नर्मदा घाट पर बनी अहिल्या मां साहब के समय की बनी छतरियां पूरी तरह डूब गई है. नर्मदा घाट से पर बने मन्दिर जलमग्न दिखाई नहीं पड़ रहे है. नर्मदा घाट से करीब दो सौ फीट दूर अहिल्या किले की दीवारों को छूता हुआ नर्मदा का फ्लड बह रहा है. नर्मदा के इस रौद्र रूप को देखते हुए प्रशासन ने जिले के नर्मदा पट्टी क्षेत्र को हाई अलर्ट घोषित कर निचली बस्तियों से लोग को हटाकर सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है.