ग्वालियर: FIR के बावजूद नहीं थमा हिंदू महासभा का गोडसे प्रेम, फिर उतारी आरती

एक बार फिर गोडसे की पूजा की गई और हिंदू महासभा ने तर्क दिया गया कि गोडसे उनके राष्ट्रीय नेता थे और पूजा करना उनका फर्ज है.

ग्वालियर: FIR के बावजूद नहीं थमा हिंदू महासभा का गोडसे प्रेम, फिर उतारी आरती
15 नवंबर को भी हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने गोडसे की पूजा की थी. जिसके बाद 4 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था.

शैलेंद्र सिंह/ग्वालियर: महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा का विवाद अभी थमा भी नहीं था कि एक बार फिर हिंदू महासभा के कार्यालय में गोडसे की पूजा की गई. इस बार हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यश्री ने कार्यकर्ताओं के साथ नाथूराम गोडसे की आरती उतारी. हालांकि, गोडसे की पूजा करने पर विवाद बढ़ा तो, उन्होंने सफाई भी दी. हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि गोडसे हमारे राष्ट्रीय नेता थे और उनकी पूजा करना हमारा फर्ज है.

गौरतलब है कि 15 नवंबर को भी हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने गोडसे की पूजा की थी. जिसके बाद 4 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था. गोडसे की पूजा करने और उससे पहले आपत्तिजनक पर्चे बांटने के मामले में पुलिस ने हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के प्रवक्ता नरेश बाथम सहित अन्य लोगों पर मामला दर्ज किया था. ये मामला ग्वालियर के ही रहने वाले रविंद्र सिंह चौहान की शिकायत पर दर्ज किया गया था. पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में उन्होंने कहा था कि पर्चे में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर अभद्र टिप्पणियां की गई थी और जिस भाषा का प्रयोग किया गया था, इससे उनकी भावनाएं आहत हुई. इसके साथ ही आयोजकों द्वारा 15 नवंबर को गोडसे का बलिदान दिवस भी मनाया गया था.

इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने धारा 153 ए यानी जाति, धर्म या विचारधारा विशेष के आधार पर सामाजिक उन्माद फैलाने की धारा में मामला दर्ज किया था. इन FIR को लेकर हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ दिल्ली पार्लियामेंट का घेराव करेंगे. क्योंकि कांग्रेस सरकार शुरू से ही निर्दोष लोगों को दोषी बनाने का काम कर रही है.