close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

होशंगाबाद: खतरे के निशान के करीब पहुंचा नर्मदा का जल स्तर, भारी बारिश से लोग परेशान

24 घंटे से जारी बारिश से नर्मदा नदी उफान पर आ गई है. नदी का जलस्तर खतरे के निशान से महज एक फिट नीचे है. तवा नदी सहित नर्मदा की सभी सहायक नदियों में तेजी से जल स्तर बढ़ने के कारण जिले में बाढ़ की स्थिति बन गई है. 

होशंगाबाद: खतरे के निशान के करीब पहुंचा नर्मदा का जल स्तर, भारी बारिश से लोग परेशान
नर्मदा नदी में बाढ़ का खतरा. प्रतीकात्मक तस्वीर

पीताम्बर जोशी, होशंगाबाद: 24 घंटे से जारी बारिश से नर्मदा नदी उफान पर आ गई है. नदी का जलस्तर खतरे के निशान से महज एक फिट नीचे है. तवा नदी सहित नर्मदा की सभी सहायक नदियों में तेजी से जल स्तर बढ़ने के कारण जिले में बाढ़ की स्थिति वन गई है. पुल पुलिया पर पानी आने से दर्जनों गांवों का मुख्यालय से सड़क संपर्क टूट गया है. शहरी इलाकों में नर्मदा का बैक वॉटर आने की संभावनाओं को लेकर निचले इलाकों को खाली कराने के लिए मुनादी कराई जा रही है. 

लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है. प्रशासन ने बाढ़ पीड़ितों के लिए सरकारी स्कूलों, पंचायत भवनों और सामुदायिक भवनों में राहत शिविर बनाये गए हैं. लगतार नर्मदा का जलस्तर बढ़ता गया जोकि रात 8 बजे 963.5 पर पर थम गया. दरअसल, नर्मदा नदी में तवा डैम, बरगी डैम का पानी को प्रवाहित कर दिया गया, जिसके चलते नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ गया है. शाम होते-होते नर्मदा नदी का जलस्तर 963.5 पर पहुंच गया है. 

लाइव टीवी देखें-:

लगातार होती बारिश से मुख्यालय का हरदा और बैतूल जिले से जिले से भी संपर्क टूट गया, वहीं करीब 1 दर्जन से अधिक गांवों का भी शहर से संपर्क टूट गया है. पुलिस और होमगार्ड के जवानों ने को सभी जगह पर तैनात किया हुआ है.

एसपी एमएल छारी के अनुसार परिस्थितियों के अनुसार बल को अलग-अलग घाटों और क्षेत्रों में तैनात किया गया है. वहीं हर परिस्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. वहीं कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह का कहना है कि स्थिति ठीक है सब कुछ कंट्रोल में है. वहीं लगातार होती मूसलाधार बारिश में नदियां पानी से लबालब हो गई हैं. पानी पुल के ऊपर से बह रहा है, जिससे इंसान ही नहीं जानवर भी परेशान हो चले हैं.