ICONS Of MPCG: जानिए रायपुर के समाजसेवी डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक की कहानी

डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक की पहचान समाजसेवक के तौर की जाती है. पटनायक रायपुर के एमिटी यूनिवर्सिटी के पीआर डायरेक्टर हैं.

ICONS Of MPCG: जानिए रायपुर के समाजसेवी डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक की कहानी
डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक

रायपुर: डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक रायपुर की एमिटी यूनिवर्सिटी के PR डायरेक्टर हैं. इनकी पहचान समाजसेवक के तौर पर भी है. इनका जीवन एक आदर्श है ऐसे लोगों के लिए जो चुनौतियों से हार जाते हैं. क्योंकि इन्होंने कड़े संघर्षों से बड़ा मुकाम हासिल किया है. 3 महीने की उम्र में इनके सिर से पिता का साया उठ गया था. मां ने कड़े संघर्षों से इन्हें पाला. बड़े हुए तो परिवार की आर्थिक मदद के लिए बिलासपुर में एसटीडी, पीसीओ की दुकान पर 400 रुपये महीने के वेतन पर नौकरी करने लगे. लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और उच्च शिक्षा हासिल कर अपनी अलग पहचान बनाई. आइए जानते हैं कि आखिर कैसे उन्होंने कामयाबी का सफर हासिल किया.

डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक की पहचान  
डॉ. शिवम अरुण कुमार पटनायक की पहचान समाजसेवक के तौर की जाती है. पटनायक रायपुर के एमिटी यूनिवर्सिटी के पीआर डायरेक्टर हैं. पटनायक जब 3 महीने के थे तभी इनके पिता का देहांत हो गया. उसके बाद इनकी मां पिता की जगह रेलवे स्कूल में चपरासी की नौकरी करने लगी.

मां की नौकरी से परिवार का खर्च बड़ी कठिनाइयों से चलता था. इसलिए पटनायक खुद PCO में काम करने लगे. पीसीओ से इन्हें 400 रुपये प्रति महीने मिलते थे. बिलासपुर में पीसीओ में नौकरी के दौरान ही इन्होंने उच्च शिक्षा हासिल की. पटनायक शुरू से ही प्रतिभावान थे. इसी का नतीजा था कि जिस स्कूल में इनकी मां पढ़ाती थी उसी स्कूल में ये पहली बार गेस्ट लेक्चरर बनकर गए और स्कूल के एक कार्यक्रम में मां के VRS की घोषणा की.

समाजसेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए पटनायक कई अवॉर्डों से सम्मानित हो चुके हैं. पटनायक को पुट्टपर्थी में राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा जा चुका है. इसके अलावा उन्हें वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया अवॉर्ड, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश का चीफ मिनिस्टर अवॉर्ड के साथ ही राष्ट्रीय सेवा रत्न अवॉर्ड से भी पुरस्कृत किया जा चुका है.

Watch Live TV-