कांग्रेस विधायक का बड़ा बयान, 'सिंधिया ने नई पार्टी बनाई तो मैं सबसे पहले जाऊंगा'

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के नाराज चलने की चर्चाओं के बीच कांग्रेस के विधायक सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा) का विवादित बयान आया है.

कांग्रेस विधायक का बड़ा बयान, 'सिंधिया ने नई पार्टी बनाई तो मैं सबसे पहले जाऊंगा'
कांग्रेस विधायक सुरेश राठखेड़ा (फोटो साभारः facebook)

भोपाल: कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के नाराज चलने की चर्चाओं के बीच कांग्रेस के विधायक सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा) का विवादित बयान आया है. उनका कहना है कि 'सिंधिया अगर कोई नई पार्टी बनाते हैं तो नई पार्टी में मैं (राठखेड़ा) सबसे पहले जाऊंगा.' शिवपुरी (Shivpuri) जिले के पोहरी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक सुरेश राठखेड़ा (Congress MLA Suresh Rathkheda) से सिंधिया की नाराजगी को लेकर जब पत्रकारों ने पार्टी छोड़ने की चर्चाओं को लेकर सवाल पूछा तो उनका जबाव था कि अगर सिंधिया नई पार्टी बनाते हैं तो वह पहले सदस्य होंगे जो कांग्रेस छोड़कर जाएंगे.

उन्होंने कहा कि, "पहली बात तो यह है कि महाराज साहब (ज्योतिरादित्य सिंधिया) पार्टी छोड़ रहे हैं मुझे ऐसा नहीं लग रहा. उनके किसी दूसरी पार्टी में जाने का तो सपना आप लोग छोड़ दें. वे इतनी बड़ी ताकत हैं कि जब जो चाहें प्रदेश में कर सकते हैं. जिस दिन चाहेंगे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अपनी नई पार्टी खड़ी कर सकते हैं."

Twitter से पार्टी का नाम और पद हटाने पर सिंधिया की सफाई, बोले- 'लोगों की सलाह पर किया ये काम'

उन्होंने आगे कहा, "श्रीमंत महाराज साहब पार्टी बनाते हैं, तो सबसे पहले यही बंदा मिलेगा जो श्रीमंत महाराज साहब के साथ जाएगा, महाराज साहब जहां रहेंगे वहीं मैं रहूंगा. मैं महाराज साहब का ऋणी हूं. पार्टी सवरेपरि है, लेकिन महाराज उससे भी ऊपर हैं. मैं उनका एक छोटा सा चरण सेवक हूं."

ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद अब उनके Followers ने भी बदला अपना Twitter Status

गौरतलब है कि पिछले दिनों ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा अपने ट्विटर से स्टेट्स बदलने के बाद गरमाई राजनीति में यह कयास लगाए गए कि सिंधिया मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अपनी उपेक्षा के बाद से नाराज हैं. हालांकि, सिंधिया ने इन बातों को अफवाह बताया और बाद में सफाई दी कि उन्होंने तो अपना स्टेट्स एक महीने पहले ही बदल दिया था. अब उनके समर्थक विधायक के बयान ने नई बहस को जन्म दे दिया है.