close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में शिक्षकों ने किताब खोलकर दी परीक्षा, फिर भी फेल हो गए 70 टीचर

शिक्षकों को दोबारा परीक्षा देने का मौका दिया गया और 14 अक्टूबर को परीक्षा ली गई. इस परीक्षा में शिक्षकों को किताब ले जाने की भी छूट दी गई थी. परीक्षा में कुल 1254 शिक्षक शामिल हुए थे.

मध्य प्रदेश में शिक्षकों ने किताब खोलकर दी परीक्षा, फिर भी फेल हो गए 70 टीचर
(सांकेतिक तस्वीर)

भोपालः मध्य प्रदेश में शिक्षकों की परीक्षा का रिजल्ट आ गया है, जिसमें 70 शिक्षक ऐसे हैं जो नकल करके भी पास नहीं हो पाए हैं. ये 70 शिक्षक 33 फीसदी अंक भी नहीं ला पाए. हाईस्कूल में 33 फीसदी रिजल्ट देने वाले शिक्षकों की जून में परीक्षा कराई गई थी, जिसमें करीब 1300 शिक्षक फेल हो गए थे. ऐसे में शिक्षकों को दोबारा परीक्षा देने का मौका दिया गया और 14 अक्टूबर को परीक्षा ली गई. इस परीक्षा में शिक्षकों को किताब ले जाने की भी छूट दी गई थी. परीक्षा में कुल 1254 शिक्षक शामिल हुए थे. वहीं 117 शिक्षक अनुपस्थित थे.

ऐसे में जब परीक्षा का रिजल्ट आया तो परिणाम चौंकाने वाले थे, क्योंकि परीक्षा देने वाले 70 शिक्षक दोबारा फेल हो गए, जिन्हें अब अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी जा सकती है. कार्रवाई से पहले इन शिक्षकों की कॉपियां भोपाल मुख्यालय बुलाई जाएगी, जिनका मूल्यांकन दोबारा होगा और इसके बाद कार्रवाई होगी. भोपाल में 7 शिक्षकों ने परीक्षा दी थी जिनमें 1 शिक्षक फेल हो गया. सतना में सबसे ज्यादा 11 शिक्षक फेल हुए हैं.

देखें LIVE TV

सिंधिया ने 1 महीने में CM कमलनाथ को लिखे 4 पत्र, कार्यकर्ताओं और जनता की परेशानियों से कराया रूबरू

परीक्षा को कितनी गंभीरता से लिया गया है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जो भी शिक्षक इस परीक्षा में फेल हुए हैं उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने की संभावना जताई जा रही है. ऐसे में अब परीक्षा को गंभीरता से ना लेने वाले शिक्षकों के गले सूख रहे हैं और परीक्षा में फेल होने वाले शिक्षक परेशान हैं कि उन्हें अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है. बता दें कार्रवाई के पहले इन शिक्षकों की कॉपियां भोपाल मुख्यालय बुलवाई जाएंगी पुनः कॉपी का मूल्यांकन होगा. जिसके बाद परीक्षा में फेल हुए शिक्षकों पर कार्रवाई की जाएगी.