MP: 6000 कमाने वाले युवक को आयकर विभाग से मिला करोड़ो का नोटिस, पढ़ें पूरा मामला

मध्य प्रदेश के भिंड जिले के रहने वाले एक युवक को आयकर विभाग ने 3.5 करोड़ का नोटिस भेजा है. जबकि इस युकव की कमाई 6 हजार रुपये महीने है.

MP: 6000 कमाने वाले युवक को आयकर विभाग से मिला करोड़ो का नोटिस, पढ़ें पूरा मामला
रवि गुप्ता.

भिंड: मध्य प्रदेश के भिंड जिले के रहने वाले एक युवक को आयकर विभाग ने 3 करोड़ 49 लाख रुपये का नोटिस भेजा है. मोहना तहसील के रवि गुप्ता एक प्राइवेट कंपनी में 6000 ₹ की महीने की पगार पर काम करते हैं. कुछ समय पहले वह ग्वालियर में एक कंपनी में काम करते थे, उसके बाद कोलकाता में काम किया और वर्तमान में हरियाणा में एक कंपनी में कार्यरत हैं.

रवि गुप्ता का कहना है कि 30 मार्च 2019 को उनको आयकर विभाग से एक नोटिस आया था. यह नोटिस 3 करोड़ 49 लाख रुपये का था. आयकर विभाग ने रवि गुप्ता को यह रकम आगामी 17 जनवरी, 2020 तक जमा करने के लिए कहा था. रवि को समझ नहीं आ रहा था कि उनकी मासिक आय 6000 रुपये है और उन्होंने ऐसा क्या कर दिया कि आयकर विभाग ने 3 करोड़ 49 लाख रुपये का नोटिस भेजा है. 

कमाई 6000 मासिक, नोटिस 3.5 करोड़ का
जब रवि ने छानबीन की तो पता चला कि आयकर विभाग ने उसे यह नोटिस एक अवैध बैंकिंग ट्रांजेक्शन के मामले में भेजा है. दरअसल, मुंबई में रवि के नाम और पते पर एक्सिस बैंक में एक फर्जी अकाउंट खोला गया. अयाकर विभाग के मुताकिब इस खाते से साल 2011 में 132 करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन हुआ था. रवि गुप्ता ने बताया कि उसे प्रोपराइटर बताकर मुंबई के एक्सिस बैंक में टिया ट्रेडर्स के नाम से फर्जी खाता खोला गया, जिसमें उसके पैन कार्ड का इस्तेमाल किया गया है और हस्ताक्षर भी उससे काफी मिलता जुलता है. 

बैंक ने फर्जी दस्तावेजों का भी कर दिया सत्यापन
रवि गुप्ता को इस संबंध में कोई जानकारी ही नहीं है. रवि का कहना है कि बैंक के अकांउट ओपनिंग फॉर्म में बिना किसी परमानेंट एड्रेस प्रूफ के खाता खोला गया. बैंक के फील्ड वेरिफिकेशन फॉर्म के अनुसार बैंक ने मुंबई में रवि का हनहाउस बिजनेस सेंटर वेरिफाई किया. पर्सनल कार, गुड्स वैन वेरिफाई किया, जबकि वह कभी मुंबई ही नहीं गया. उसके पास कोई कार भी नहीं है, न कोई गुड्स वैन है. यहां तक कि रवि गुप्ता का ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं बना है. रवि का कहना है कि फर्जी दस्तावेजों से यह खाता खोला गया और बैंक ने इसे वेरिफाई भी कर दिया.

आयकर विभाग रवि की बात सुनने को तैयार नहीं
अयाकर विभाग का नोटिस आने के बाद रवि ने जब स्थानीय कार्यालय में संपर्क किया तो उसकी सुनवाई नहीं हुई. उसने आयकर विभाग को बताया कि बैंक खाता उसका नहीं है. रवि गुप्ता ने आयकर अधिकारियों को अपनी सैलरी भी बताई, अन्य जानकारियां भी उपलब्ध कराईं, लेकिन आयकर अधिकारी कुछ सुनने को तैयार नहीं हैं. उसे लगातार नोटिस भेजा जाता रहा. 

रवि ने बताया कि बैंक में जिस पते पर खाता खोला गया है, वह टिया ट्रेडर्स 7/ए, जीआरडी धन मैंसन, गजधर रोड, सी वार्ड, एसएस रोड, मुंबई, महाराष्ट्र है. जबकि उसका असली पता गल्ला मंडी, मिहोना (भिंड) और वर्तमान निवास भगवन नगर, धोलेवाल, लुधियाना है. वह वर्तमान में यहीं नौकरी कर रहा है. आयकर अधिकारियों का रवि से कहना है कि वह मुंबई जाकर ही इस संबंध में शिकायत करे.

ये वीडियो भी देखें: