वायरल तस्वीर: मदद के लिए तैयार था ओरांगुटान, दलदल में फंसे शख्स ने क्यों नहीं बढ़ाया हाथ?

दलदल में फंसे शख्स की मदद के लिए ओरांगुटान द्वारा हाथ बढ़ाने की तस्वीर हो रही सोशल मीडिया में वायरल. इन तस्वीरों को भारतीय फोटोग्राफर अनिल प्रभाकर ने कैमरे में कैद किया था.

वायरल तस्वीर: मदद के लिए तैयार था ओरांगुटान, दलदल में फंसे शख्स ने क्यों नहीं बढ़ाया हाथ?

बोर्नियो: इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप से एक बेहतरीन तस्वीर वायरल हो रही है. इसमें एक शख्स दलदल में फंसा हुआ. कमर तक का हिस्सा पानी में है. उसे मुसीबत में देख एक ओरांगुटान मदद के लिए हाथ बढ़ाता है लेकिन वह शख्स मदद लेने से इनकार कर देता है. दलदल में फंसे होने के बावजूद एक एक ओरांगुटान से मदद न लेने के पीछे उस शख्स की अपनी दलील है.
 

इस पूरे घटनाक्रम को भारतीय फोटोग्राफर अनिल प्रभाकर ने अपने कैमरे में कैद कर लेते हैं. अनिल अपने दोस्तों के साथ सफारी पर थे. उन्होंने इन तस्वीरों को सोशल साइट पर डाल दिया जिस पर लोग कमेंट कर रहे हैं. वहीं कुछ लोग लिख रहे हैं कि उस शख्स को ओरांगुटान से मदद लेनी चाहिए थी. 

प्रभाकर को बाद में पता चला कि दलदल में फंसा शख्स इलाके में रहने वाले वानरों की सुरक्षा का काम करता है. वह बोर्नियो ऑरंगुटान सर्वाइवल फाउंडेशन के लिए काम करता है. यह संगठन लुप्तप्राय प्रजातियों की रक्षा के लिए काम करता है. वह नदी में सांपों की तलाश के लिए उतर गया था. क्योंकि ये सांप उन वानरों को नुकसान पहुंचा सकते हैं. वह कमर तक कीचड़ में फंसा हुआ था. उसके हाथ में एक सांप भी था. फाउंडेशन ने अनिल प्रभाकर द्वारा ली गई फोटो को फेसबुक पर शेयर किया था.

शख्स ओरांगुटान द्वारा मदद के लिए हाथ बढ़ाने पर मना कर देता है और दलदल से निकलकर चला जाता है. जब प्रभाकर ने उस शख्स से पूछा कि उसने मदद लेने से क्यों मना कर दिया तो उसका जवाब था कि, ''ओरांगुटान जंगली जानवर है और हम उससे परिचित नहीं हैं. लेकिन हम उनकी रक्षा के लिए हैं."