close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंदौरः केमिकल से पेस्ट बनाया और पेट में छिपा लिया 5.5 किलो सोना, 1 महिला सहित 7 यात्री गिरफ्तार

दुबई फ्लाइट में एक महिला समेत सात यात्री अपने पेट के अंदर कैप्सूल में छिपाकर साढ़े पांच किलो सोना लाए थे. यह कैप्सूल शरीर के मलाशय (रेक्टम) जैसे अंगों में छिपे हुए थे और सोना कैप्सूल के अंदर पेस्ट (चूरा) के रूप में था.

इंदौरः केमिकल से पेस्ट बनाया और पेट में छिपा लिया 5.5 किलो सोना, 1 महिला सहित 7 यात्री गिरफ्तार
तस्करों ने शरीर के नाजुक अंगों में छिपा रखा था 5.5 किलो सोना

इंदौरः डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) इंदौर ने कस्टम विभाग के साथ मिलकर शुक्रवार रात एयरपोर्ट पर सोने की बड़ी तस्करी पकड़ी. दुबई फ्लाइट में एक महिला समेत सात यात्री अपने पेट के अंदर कैप्सूल में छिपाकर साढ़े पांच किलो सोना लाए थे. यह कैप्सूल शरीर के मलाशय (रेक्टम) जैसे अंगों में छिपे हुए थे और सोना कैप्सूल के अंदर पेस्ट (चूरा) के रूप में था. यात्रियों ने अंडरगारमेंट में भी गोल्ड पेस्ट के रूप में कुछ सोना छिपा रखा था. केमिकली ट्रीटमेंट के जरिये सोने को पेस्ट में बदलकर कैप्सूल में भरकर अंगों में छिपाया गया था.

जब्त सोने की कीमत 2.1 करोड़ रुपए बताई जा रही है. प्रदेश में पहली बार इस तरह की तस्करी पकड़ में आई है. एक साल के अंदर इंदौर में यह दूसरी सबसे बड़ी गोल्ड तस्करी पकड़ी गई है. वहीं दुबई-इंदौर की सीधी इंटरनेशनल फ्लाइट में पहली बार तस्करी का सोना पकड़ा गया है. दरअसल, शुक्रवार रात दुबई से आई फ्लाइट में एक महिला समेत 7 यात्री अपने पेट के अंदर सोने के कैप्सूल छिपाकर लाए थे. सोने के ये कैप्सूल तस्करों के शरीर के अंदर छुपाए गए थे. सोने के पेस्ट को कैप्सूल में डालकर शरीर के अंगों में छुपाया गया था.

देखें LIVE TV

VIDEO: कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी बोले, '100 फीसदी पटवारी लेते हैं रिश्वत'

यही नहीं केमिकल ट्रीटमेंट से सोने के पेस्ट को अंडरगारमेंट में लगा दिया गया था. जिसके बाद इंदौर एयरपोर्ट पर इस गिरोह का खुलासा हुआ और सोने की तस्करी करने वाले अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरोह के इन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया. इन 7 तस्करों के पास से 2.1 करोड़ की कीमत का साढ़े 5 किलो सोना बरामद किया गया है. बता दें मध्य प्रदेश में इस तरह की तस्करी का यह पहला मामला है.