close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंदौरः खाद्य आपूर्ति विभाग के प्रबंधक के ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, करोड़ों की संपत्ति का खुलासा

लोकायुक्त पुलिस को सलमान हैदर के पास आय से अधिक संपत्ति और कालाधन होने की शिकायत मिली थी, जिसके बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है.

इंदौरः खाद्य आपूर्ति विभाग के प्रबंधक के ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, करोड़ों की संपत्ति का खुलासा
सलमान हैदर फिलहाल कटनी में पदस्थ हैं.

इंदौरः सोमवार की सुबह इंदौर लोकायुक्त ने मध्य प्रदेश खाद्य आपूर्ति निगम इंदौर के तत्कालीन प्रबंधक सलमान हैदर के चार ठिकानों पर छापा मारा है. लोकायुक्त पुलिस ने यह छापा आय से अधिक संपत्ति के मामले में मारा है. बता दें सलमान हैदर अभी कटनी में पदस्थ हैं. लोकायुक्त पुलिस की चार टीमों ने सोमवार की अल सुबह सलमान हैदर के चार ठिकानों पर छापा डाला. बता दें लोकायुक्त पुलिस को सलमान हैदर के पास आय से अधिक संपत्ति और कालाधन होने की शिकायत मिली थी, जिसके बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है.

मिली जानकारी के मुताबिक हैदर खाद्य आपूर्ति निगम इंदौर के प्रबंधक के तौर पर तैनात रह चुके हैं और फिलहाल वह कटनी में पदस्थ हैं. लोकायुक्त की टीम आज सुबह 5 बजे सलमान हैदर के चार ठिकानों पर अचानक आ धमकी और कार्रवाई शुरू की. लोकायुक्त पुलिस ने सलमान हैदर के इंदौर सहित कटनी स्थित ठिकानों में भी छानबीन शुरू कर दी है.

MP: लोकायुक्त ने आयकर विभाग के छापों की जानकारियां साझा करने से किया इनकार

बता दें लोकायुक्त पुलिस ने सलमान हैदर के इंदौर स्थित जिन चार ठिकानों पर छापेमारी शुरू की है उनमें इंदौर के पलसीकर चौराहा आदर्श पैथोलॉजी के ऊपर स्थित फ्लैट 202 बारगल अपार्टमेंट, छात्रीपुरा के मकान नंबर 23, कागदीपुरा के 69 मुस्कान अपार्टमेंट में सेकंड फ्लोर के फ्लैट नंबर 201 और फ्लैट नंबर 202 और मणिकबाग रोड इंदौर पर स्थित नंदनवन विजयनगर स्थित ठिकाने शामिल हैं. हैदर के सभी ठिकानों पर करीब 50 अधिकारी और कर्मचारियों के साथ तलाशी जारी है.

MP: लोकायुक्त पुलिस के हत्थे चढ़ा करोड़पति पटवारी, बेहिसाब संपत्ति का था मालिक

इस कार्रवाई में अब तक लोकायुक्त को 5 लाख 36 हजार से अधिक नगदी, गुपब बाग कॉलोनी और ग्लैमर हाईवे सिटी टाउनशिप में प्लॉट, पलसीकर कॉलोनी स्थित बिल्डिंग में 3 फ्लैट, विदेशी मुद्रा, कुछ बैंक अकाउंट्स और बैंक लॉकर मिले हैं. फिलहाल कार्रवाई जारी है. कार्रवाई में अब तक करोड़ो रुपयों की संपत्ति मिल चुकी है. शाम तक पूरी संपति की जानकारी सामने आ सकेगी. वह पिछले 30 साल से अपने सेवा में कार्यरत हैं, इससे उन्होंने कितनी आय हुई है, इसकी भी जानकारी लोकायुक्त को टीम जुटा रही है.