इंदौर: प्लाज्मा थैरेपी को लेकर बड़ा ऐलान, अब 11000 Rs से ज्यादा नहीं वसूल पाएंगे निजी अस्पताल

जानकारी के अनुसार पहले अस्पताल प्लाज्मा थैरेपी के लिए 15000- 25000 रुपए तक वसूल रहे थे. लगातार मामला सामने आने के बाद मंत्री तुलसी सिलावट ने शुल्क निर्धारण के लिए कहा था.

इंदौर: प्लाज्मा थैरेपी को लेकर बड़ा ऐलान, अब 11000 Rs से ज्यादा नहीं वसूल पाएंगे निजी अस्पताल
फाइल फोटो.

शैलेंद्र/इंदौर: कोरोना वायरस के इलाज में कारगर मानी जा रही प्लाज्मा थैरेपी को लेकर सोमवार को बड़ा ऐलान किया गया. जिसके मुताबिक अब अस्पताल थैरेपी के लिए सिर्फ 11 हजार रुपए ही लेंगे. इससे ज्यादा राशि नहीं वसूल सकेंगे. अगर ऐसा करते कोई पाया जाएगा, तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस संबंध में कमिश्नर ने आदेश भी जारी कर दिए हैं.

जानकारी के अनुसार पहले अस्पताल प्लाज्मा थैरेपी के लिए 15000- 25000 रुपए तक वसूल रहे थे. लगातार मामला सामने आने के बाद मंत्री तुलसी सिलावट ने शुल्क निर्धारण के लिए कहा था. जिसके बाद संभागायुक्त डॉक्टर पवन शर्मा ने प्राइवेट अस्पातल संचालकों से आज बैठक की और उसके बाद यह फैसला लिया गया. 

बैठक के बाद डॉ. शर्मा ने बताया कि कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थैरेपी एक कारगर दवाई मानी जा रही है. ऐसी शिकायतें मिल रही थीं कि प्लाज्मा थैरेपी के लिए अगल-अलग अस्पताल अलग- अलग चार्ज कर रहे हैं. कोई 15000 तो कोई 25000 चार्ज कर रहा है. मंत्री सिलावट के निर्देश पर प्राइवेट अस्पताल संचालकों के साथ बैठक की गई. बैठक में यह तय कर दिया है कि 11 हजार रुपए में ही प्लाज्मा दिया जाएगा. अभी सरकारी रेट साढ़े 9 हजार रुपए हैं.

WATCH LIVE TV