close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

क्या मध्य प्रदेश में सरकार बदलने जा रही है? राजस्थान के फलोदी में लग रहा सट्टा

एक्जिट पोल में जहां एनडीए के पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी का अनुमान लगाया गया है, वहीं राजस्थान के फलोदी सट्टा बाजार में मध्य प्रदेश में सरकार बदलने पर बड़ा दांव लगाया जा रहा है.

क्या मध्य प्रदेश में सरकार बदलने जा रही है? राजस्थान के फलोदी में लग रहा सट्टा
मध्य प्रदेश में सरकार बदलने के साथ राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन पर भी सट्टेबाजी चल रही है.

जयपुर: एक्जिट पोल में जहां एनडीए के पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी का अनुमान लगाया गया है, वहीं राजस्थान के फलोदी सट्टा बाजार में मध्य प्रदेश में सरकार बदलने पर बड़ा दांव लगाया जा रहा है. एक सट्टेबाज ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर कहा कि केंद्र में भाजपा सरकार बनने के तुरंत बाद मध्य प्रदेश में सरकार बदलना एक बड़ी घटना होगी.

सटोरिए ने कहा, "वर्ष 2018 में मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 114 और भाजपा ने 109 सीटें जीती थी. उस दौरान भाजपा ने सरकार बनाने के लिए काफी कोशिश की थी, लेकिन सफल नहीं हो पाई और कांग्रेस के कमलनाथ ने सरकार बनाई. उस वक्त सट्टा बाजार भौंचक रह गया था, लेकिन अब हमारा गणित कह रहा है कि वे कुछ बड़ी योजना बना रहे हैं."

उसने कहा, "अब हमारे शोध के नतीजे हैं कि भाजपा सरकार बनाने के लिए हर समीकरण को आजमाएगी." सटोरिए ने कहा, "इस परिवर्तन पर हम बड़ा दांव लगा रहे हैं. सट्टेबाज कमलनाथ सरकार के जारी रहने पर 10 रुपये लगा रहे हैं, वहीं भाजपा सरकार पर भाव एक रुपये है."

मध्य प्रदेश में सरकार बदलने के साथ राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन पर भी सट्टेबाजी चल रही है. राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत अगर लोकसभा चुनाव हार जाते हैं तो कांग्रेस के दूसरे धड़े का वर्चस्व बढ़ जाएगा. इससे अशोक गहलोत के राजनीतिक भविष्य पर संकट आ सकता है. मार्केट रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन हो सकता है. फलोदी सट्टा बाजार के एक अन्य सट्टेबाज ने कहा कि भाजपा की लहर इस बार 2014 से ज्यादा है और मतदाताओं ने चुनाव तिथि की घोषणा के बाद ही अपना मन बना लिया था. वे शांत रहे, 

लेकिन मोदी को वोट देने में निर्णायक रहे. सट्टेबाज ने कहा, "ऐसा संभवत: इसलिए हुआ, क्योंकि उनके पास मजबूत विकल्प नहीं था." प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मार्केट रेट पिछले कुछ माह से 0.3 पैसे से 0.2 पैसे के बीच चल रहा है. इससे साबित होता है कि वह दोबारा सत्ता में लौट रहे हैं. उसने मुस्कारते हुए कहा, "आएगा तो मोदी ही."