close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: सतना में ISI के इशारे पर हो रही थी टेरर फंडिंग, ATS ने 3 को किया गिरफ्तार

हिरासत में लिए गए कुल 5 लोगों में से पूछताछ के बाद 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा 2 संदिग्ध लोगों से पूछताछ अभी भी जारी है. बताया जा रहा है कि सुनील सिंह, बलराम सिंह और शुभम मिश्रा को गिरफ्तार करके ATS अपने साथ भोपाल ले गई है. 

MP: सतना में ISI के इशारे पर हो रही थी टेरर फंडिंग, ATS ने 3 को किया गिरफ्तार
सतना में मिला टेरर फंडिंग नेटवर्क

संजय लोहानी, सतना: मध्य प्रदेश के सतना जिले में एक बार फिर टेरर फंडिंग का मामला सामने आया है. पता चला है कि इस बार पुलिस ने देश के दुश्मनों के लिए पैसा इकट्ठा करने में लगे एक गिरोह के 5 लोगों को हिरासत में लिया है. जानकारी के मुताबिक हिरासत में लिए गए कुल 5 लोगों में से पूछताछ के बाद 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा 2 संदिग्ध लोगों से पूछताछ अभी भी जारी है. बताया जा रहा है कि सुनील सिंह, बलराम सिंह और शुभम मिश्रा को गिरफ्तार करके ATS सतना से अपने साथ भोपाल ले गई है. वहीं भारवेंद्र सिंह और प्रदीप कुशवाहा से पूछताछ अभी भी जारी है.

सतना में फिर पकड़ा गया टेरर फंडिंग नेटवर्क
पहले भी पकड़े जा चुके सोहास निवासी बलराम सिंह समेत पांच आरोपी सतना पुलिस की गिरफ्त में हैं. बताया जा रहा है कि ये लोग सतना से बैठ कर कई राज्यों में अपना नेटवर्क चला रहे थे. सतना में गिरफ्तार हुए ये सभी आरोपी भोपाल ATS (एन्टी टेरीरिज्म स्क्वाड) को सौंप दिए गए हैं. आपको बता दें कि गिरफ्तार आरोपियों में बलराम सिंह 2017 में भी टेरर फंडिंग मामले में गिराफ्तार हो चुका है. आरोपियों के पास से स्मार्ट फोन, लैपटॉप और 17 पाकिस्तानी नम्बर मिले हैं. इन्हीं चीजों के माध्यम से ये लोग आतंकियों के फण्ड मैनेजर से बात करते थे. प्राप्त जानकारी के मुताबिक गिरोह के अन्य सदस्यों को पकड़ने के लिए टीम छतरपुर और इलाहाबाद भी भेजी गई है.

ISI के इशारे पर चल रहा था काम
बताया जा रहा है कि ये सभी आरोपी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के इशारे पर काम कर रहे थे और देश के खिलाफ काम कर रहे आतंकियों के लिए टेरर फंडिंग का काम कर रहे थे. रीवा रेंज के आई जी चंचल शेखर ने इस खबर की पुष्टि की है. जानकारी के मुताबिक इस मामले में बलराम सिंह, भागवेन्द्र सिंह, सुनील सिंह, शुभम तिवारी और 1 अन्य आरोपी शामिल है.