MP: नगरीय निकाय चुनावों से पहले भगवान राम की शरण में कमलनाथ सरकार, की ये बड़ी घोषणा

नगरीय निकाय चुनाव से पहले राम के नाम से मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने लिए नई जमीन तैयार करने की भरपूर कोशिश कर रही है. 

MP: नगरीय निकाय चुनावों से पहले भगवान राम की शरण में कमलनाथ सरकार, की ये बड़ी घोषणा
इससे पहले कमलनाथ सरकार की ओर से रामपथ वन गमन बनाने और ओरछा में रामराजा मंदिर के विस्तार की योजना का भी ऐलान किया जा चुका है. (फाइल फोटो)

भोपाल: अयोध्या में राम मंदिर के फैसले के बाद अब मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार भी राम नाम का सहारा ले रही है. दरअसल, कमलनाथ सरकार ने प्रदेश के सभी 378 नगरीय निकायों में रामलीला के आयोजनों को बढ़ावा देने का फैसला किया है. बताया जा रहा है कि 378 नगरीय निकायों में रामलीला मंचन के लिए कमलनाथ सरकार द्वारा पक्के मंच का निर्माण कराया जाएगा.  

 

दरअसल, कमलनाथ सरकार के नगरीय निकाय मंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह सोमवार को रायसेन जिले के बरेली में आयोजित आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में भाग लेने आये थे. जयवर्धन सिंह ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि राज्य की सभी 378 नगर पंचायतों, नगर पालिकाओं और नगर निगमों में रामलीला मंचन के लिए कमलनाथ सरकार की ओर से पक्के मंच बनाने की योजना बनाई जा रही है. जयवर्धन सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भी इस योजना के बारे में जानकारी दी.

गौरतलब है कि इससे पहले कमलनाथ सरकार की ओर से रामपथ वन गमन बनाने और ओरछा में रामराजा मंदिर के विस्तार की योजना का भी ऐलान किया जा चुका है. नगरीय निकाय चुनाव से पहले राम के नाम से मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने लिए नई जमीन तैयार करने की भरपूर कोशिश कर रही है.