close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अपने बयान से गोपाल भार्गव का यू-टर्न, 'विधायकों की अभी संख्या नहीं, जिससे सरकार बदल सके'

गोपाल भार्गव ने दावा किया था कि झाबुआ उपचुनाव के बाद एमपी में बीजेपी अपनी सरकार बनाएगी. झाबुआ में युवा सम्मेलन में शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में यह बयान उन्होंने दिया था. 

अपने बयान से गोपाल भार्गव का यू-टर्न, 'विधायकों की अभी संख्या नहीं, जिससे सरकार बदल सके'
फोटो साभार- @bhargav_gopal

झाबुआ: झाबुआ उपचुनाव (Jhabua by-election) में बीजेपी (BJP) की जीत के बाद सरकार बदलने वाले बयान से अब गोपाल भार्गव (Gopal Bhargav) बदल गए हैं. उन्होंने अपने बयान को महज चुनावी बताया. उन्होंने कहा कि ये बयान सिर्फ चुनावी था. इसके अलग मायने नहीं निकाले जाने चाहिए. उन्होंने कहा कि अभी न तो कोई ऐसा नंबर है और न ही विधायकों की ऐसी संख्या, जिसके आधार पर ऐसा हो सके.

गोपाल भार्गव ने कहा कि हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व इन सब बातों को तय करता है. इसलिए गोपाल भार्गव इन सब बातों को कहने के लिए अधिकृत नहीं हैं. दरअसल, इससे पहले गोपाल भार्गव ने दावा किया था कि झाबुआ उपचुनाव के बाद एमपी में बीजेपी अपनी सरकार बनाएगी. झाबुआ में युवा सम्मेलन में शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में यह बयान उन्होंने दिया था. 

झाबुआ में प्रचार करने आए नेता प्रतिपक्ष ने दावा किया कि झाबुआ उपचुनाव बीजेपी ही जीतेगी और उसके बाद एमपी से कमलनाथ सरकार की विदाई होगी और प्रदेश में बीजेपी अपनी सरकार बनाएगी.

लाइव टीवी देखें

आपको बता दें कि नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में दूसरा दौरा है. पहले दौरे में वे कांग्रेस उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया को पाकिस्तान का उम्मीदवार बता चुके थे. इस पर झाबुआ कोतवाली में गोपाल भार्गव पर एफआईआर दर्ज की गई थी.