close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरुण जेटली के निधन पर कैलाश विजयवर्गीय बोले- उनका जाना देश-दुनिया के लिए भी बड़ी क्षति है

जेटली के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि 'अरुण जी का जाना सिर्फ पार्टी ही नहीं बल्कि देश-दुनिया के लिए भी गहरी क्षति है. अरुण जी जिस मंच पर होते थे, सिर्फ अरुण जी होते थे, चाहे वो राजनीतिक मंच हो, पार्लियामेंट हो या विश्व का कोई भी मंच.'

अरुण जेटली के निधन पर कैलाश विजयवर्गीय बोले- उनका जाना देश-दुनिया के लिए भी बड़ी क्षति है

नई दिल्लीः पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता अरुण जेटली के निधन के बाद पूरा देश शोक की लहर में डूबा है. उन्होंने शनिवार (24 अगस्त) की दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर अंतिम सांस ली. जेटली बीते 9 अगस्त से सांस लेने में तकलीफ के चलते दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती थे, जहां स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने के बाद उन्हें एक्‍स्‍ट्राकारपोरल मेंब्रेन ऑक्‍सीजनेशन (ECMO) और इंट्रा ऐरोटिक बैलून (IABP) सपोर्ट पर रखा गया था. जेटली के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि 'अरुण जी का जाना सिर्फ पार्टी ही नहीं बल्कि देश-दुनिया के लिए भी गहरी क्षति है. अरुण जी जिस मंच पर होते थे, सिर्फ अरुण जी होते थे, चाहे वो राजनीतिक मंच हो, पार्लियामेंट हो या विश्व का कोई भी मंच.'

उन्होंने आगे कहा कि, अरुण जी हमेशा ही अपनी बात को तर्क के साथ रखते थे, हमने एक महान नेता को खो दिया है.' अरुण जेटली को याद करते हुए विजयवर्गीय ने कहा, 'मैं विद्यार्थी पारिषद के समय से उन्हें देखता आ रहा हूं, 1974 में जब वो दिल्ली विश्वविद्यालय परिषद के अध्यक्ष थे तब हमने उन्हें मध्यप्रदेश के विद्यार्थी पारिषद सम्मेलन में बुलाया था. तब से मेरा उनके साथ सीधा संबंध था. उसके बाद, युवा मोर्चा, पार्टी और कई केस के संबंध में उनसे मुलाकात होती रही. वे मध्यप्रदेश चुनाव के प्रभारी रहे, दिग्विजय सिंह जी के लिए 'बंटाधार' शब्द उन्होंने ही दिया था, उमा जी के नेतृत्व में महने मध्य प्रदेश चुनाव जीता था. उनके साथ कई सारी यादें जुड़ी हैं.

PICS: जेटली ने तिहाड़ से किया था राजनीतिक करियर का आगाज, चुनाव लड़ने के आड़े आई थी उम्र

देखें लाइव टीवी

पूर्व वित्त मंत्री के निधन पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी शोक व्यक्त किया है. अरुण जेटली को श्रद्धांजली देते हुए उन्होंने कहा कि 'आज यह विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि हमारे बड़े भाई अरुण जेटली जी अब हमारे बीच नहीं रहे. उनके निधन से देश ने एक ईमानदार, उदार तथा उत्कृष्ट राजनेता को खो दिया है. ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह असीम पीड़ा सहन करने की शक्ति दें. विनम्र श्रद्धांजलि!