MP: यूरिया संकट से निपटने के लिए कमलनाथ सरकार ने बनाया कॉल सेंटर

यूरिया के संकट को लेकर मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि 10 दिसंबर तक सभी ज़िलों में यूरिया की कमी को खत्म कर दिया जाएगा. 

MP: यूरिया संकट से निपटने के लिए कमलनाथ सरकार ने बनाया कॉल सेंटर
इस बीच कमलनाथ सरकार का दावा है कि अब तक 18 रैक से ज्यादा यूरिया आ चुका है और आगामी 11 दिसंबर तक 49 रैक यूरिया और आ जाएगा.

भोपाल: मध्य प्रदेश में किसानों को यूरिया खाद के लिए हो रही समस्याओं से निपटने के लिए कमलनाथ सरकार ने तैयारी कर ली है. खुद कृषि मंत्री यूरिया वितरण प्रणाली पर नजर रख रहे हैं. कृषि मंत्री सचिन यादव के निर्देश पर प्रदेश में यूरिया वितरण शिकायत कक्ष स्थापित किया गया है. किसान कल्याण और कृषि विकास संचालनालय में स्थित इस कक्ष में फोन पर शिकायत दर्ज करायी जा सकती है. किसान यहां 0755-2558823 नंबर पर कॉल करके शिकायत कर सकते हैं. यहां सुबह 10 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक शिकायतें दर्ज करायी जा सकती हैं. इस शिकायत कक्ष में 13 अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है. ये लोग दिन भर आई शिकायतों का निपटारा कर शाम को कृषि मंत्री को रिपोर्ट पेश करेंगे.

यूरिया के संकट को लेकर मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि 10 दिसंबर तक सभी ज़िलों में यूरिया की कमी को खत्म कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में किसान यूरिया खाद के संकट से दो-चार हो रहे हैं. वहीं, खाद वितरण व्यवस्था में प्रशासनिक अमले और पुलिस महकमे की मदद लेनी पड़ रही है. दरअसल, राज्य में रबी की खेती के लिए किसानों को यूरिया खाद की आवश्यकता है. इसके चलते खाद वितरण केंद्रों पर सुबह से ही किसानों की लंबी-लंबी कतारें लग जाती हैं.

इस बीच कमलनाथ सरकार का दावा है कि अब तक 18 रैक से ज्यादा यूरिया आ चुका है और आगामी 11 दिसंबर तक 49 रैक यूरिया और आ जाएगा. इस तरह 10 दिसंबर तक कुल 67 रैक यूरिया जिलों तक पहुंच जाएगा और किसानों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो.