कॉर्न फेस्टिवल: सीएम कमलनाथ बोले, 'मक्का उत्पादन में देश में नंबर वन बना छिंदवाड़ा'

कमलनाथ ने कहा था कि नई पीढ़ी हॉर्टिकल्चर और एग्रीकल्चर में भी डिग्री प्राप्त करें और अपने गांव और क्षेत्रों में कृषि क्रांति लाए. हमारे गांव में जीन्स और टी शर्ट वाला किसान होगा, ये मेरी कल्पना है. 

कॉर्न फेस्टिवल: सीएम कमलनाथ बोले, 'मक्का उत्पादन में देश में नंबर वन बना छिंदवाड़ा'

छिंदवाड़ा: कॉर्न सिटी (Corn City) के नाम से मशहूर छिंदवाड़ा (Chhindwara) में कॉर्न फेस्टिवल (Corn Festival) का उद्धाटन सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) ने किया. इस मौके पर विशेष अतिथि के रूप में छिंदवाड़ा के सांसद नकुल नाथ (Nakul Nath) भी उपस्थिति रहे.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि बहुत खुशी हुई, इस कॉर्न फेस्टिवल में आकर. ये मेरे लिए एक सपना है. पहले छिंदवाड़ा जिला खेती में प्रदेश में सबसे पीछे था. हम सोयाबीन अभियान शुरू करने की सोची. सोयाबीन मिशन में ये जिला जुड़ा नहीं था. इंदिरा गांधी से मैंने चर्चा की थी. जिला आयल सीड्स मिशन से जुड़ा. सोयाबीन क्रांति शुरू होने पर हमारा जिला नंबर वन बना. मक्का का अभियान शुरू किया गया. मैंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय आंकड़े पढ़े और पाया कि भविष्य में मक्का में बहुत संभावना है. आज देश दुनिया में मक्का का उत्पादन नंबर वन है. 

कमलनाथ ने कहा था कि 70 प्रतिशत लोग कृषि क्षेत्र से जुड़े हैं. देश-प्रदेश की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है. नई पीढ़ी हॉर्टिकल्चर और एग्रीकल्चर में भी डिग्री प्राप्त करें और अपने गांव और क्षेत्रों में कृषि क्रांति लाए. हमारे गांव में जीन्स और टी शर्ट वाला किसान होगा, ये मेरी कल्पना है. किसान को न्याय हो सही मूल्य मिले तभी हमारे प्रदेश की अर्थव्यवस्था बढ़ सकती है.

इस दौरान प्रदेश के किसान कल्याण मंत्री सचिन यादव ने कहा कि सीएम के रूप में कमलनाथ ने सीएम की कमान संभाली. खाली खजाना हमें पूर्व सरकार से विरासत में मिला. किसानों को सबसे पहले हमने कर्ज से मुक्त किया. पहले चरण में 20 लाख से ज्यादा किसानों का कर्ज माफ किया. ये पहली ऐसी योजना है, जिससे 10 लाख से ज्यादा किसानों के लिए बैंकों के दरवाजे बंद हो चुके थे, उनका ऋण माफ कर उनके खाते खुलवाकर बैंकों के दरवाजे उनके लिए खोल दिये. छिंदवाड़ा जिला मक्का उत्पादन में देश मे पहले स्थान पर पहुंच गया है.

वहीं, कार्यक्रम में पहुंचे छिंदवाड़ा के सांसद नकुलनाथ ने कहा था कि यहां के किसानों ने काफी तरक्की की है और उनके लिए सरकार लगातार इंडस्ट्रीज लगाने पर जोर दे रही है. वहीं, मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव ने कहा कि राज्य में अब गौ आधारित खेती पर जोर दिया जाएगा. अगले एक साल में 1000 गौशालाएं खोली जाएंगी. धीरे-धीरे इन गौशालाओं का विस्तार ग्राम पंचायत तक किया जाएगा. ताकि किसानों के लिए प्राकृतिक खाद भी व्यवस्था हो सके.

दो दिनों तक चलने वाले कॉर्न फेस्टिवल के जरिए छिंदवाड़ा के मक्के और शहर की इंटरनेशनल ब्रांडिग किए जाने की योजना है. इस कॉर्न फेस्टिवल में मक्के से संबंधित तकनीकी ज्ञान एवं प्रदर्शनी, औद्योगिक संभावनाएं के साथ-साथ मनोरंजन, बॉलीवुड नाइट फैशन शो और सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ मक्के के व्यंजनों का जायका का अद्भुत संगम है.