close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'किन्नरों को मिले एक किलो सोना रखने की इजाज़त'

सागर की पूर्व महापौर और राष्ट्रीय किन्नर संघ की सदस्य कमला बुआ ने केंद्र सरकार के सामने अपनी मांग रखी है, क्या मांगें है कमला बुआ की, पढ़िए। 

'किन्नरों को मिले एक किलो सोना रखने की इजाज़त'

सागर: मध्य प्रदेश के सागर में पूर्व महापौर और राष्ट्रीय किन्नर संघ की सदस्य कमला बुआ ने इच्छा मृत्यु की मांग की है।

दरअसल कमला बुआ ने केंद्र सरकार पर किन्नरों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। 

कमला बुआ का कहना है कि केंद्र सरकार ने आम आदमी, औरतों और लड़कियों के लिए तो गोल्ड रखने के नियम बना दिए।

लेकिन सरकार ने इस बात का कोई प्रावधान नहीं किया कि किन्नर कितना सोना रख सकते हैं?

कमला बुआ ने इसे किन्नर समाज का अपमान बताते हुए कहा कि सरकार ने हमेशा की तरह उन्हें छोड़ दिया।

कमला बुआ ने कहा कि किन्नरों के परिवार वाले भी उनके साथ नहीं रहते ऐसे में किन्नरों की संपत्ति किन्नर समाज की ही हो जाती है।

कमला बुआ ने एक किन्नर को 1 किलो तक सोना रखने की परमीशन की मांग की है।

वहीं मामले को लेकर डॉ. हरी सिंह गौर सेंट्रल यूनिवर्सिटी में समाज शास्त्र के प्रोफेसर दिवाकर राजपूत का कहना है कि देश के संविधान में सभी नागरिकों को समानता का अधिकार प्राप्त है।
ऐसे में आम आदमी के जो अधिकार हैं वो थर्ड जेंडर को भी मिलने चाहिए।

ऐसे में सरकार को सोना रखने के नियम बनाते वक्त थर्ड जेंडर के बारे में भी सोचना चाहिए था।