खरगोन: व्यापारी परिवार सहित लापता, हरदा में मिली कार

16 फरवरी को दोपहर 2 बजे सिवनीमालवा (होशंगाबाद) से अपने घर महेश्वर के लिए निकले थे, लेकिन 2 दिन बाद भी महेश्वर नहीं पहुंचे. 

खरगोन: व्यापारी परिवार सहित लापता, हरदा में मिली कार
अपने परिवार के साथ लापता व्यापारी अमित कुमरावत (फाइल फोटो)

राम पराशर/खरगोन: खरगोन के महेश्वर में रहने वाले शोरूम संचालक अमित कुमरावत अपनी पत्नी और 2 बच्चों के साथ लापता हो गए है. 16 फरवरी को दोपहर 2 बजे सिवनीमालवा (होशंगाबाद) से अपने घर महेश्वर के लिए निकले थे, लेकिन 2 दिन बाद भी महेश्वर नहीं पहुंचे. अमित की स्विफ्ट कार नर्मदा पुल के पास हरदा जिले के हंडिया में लॉक मिली.

मौके पर पहुंची पुलिस की मौजूदगी में जब कार के लॉक खोले गए तो पति और पत्नी के मोबाइल फोन और सभी सामान सुरक्षित मिला. व्यापारी के पत्नी और बच्चों के साथ लापता हो जाने की गुत्थी उलझ गई है. 

अमित कुमरावत अपनी पत्नी सुरभि और दो बच्चों 7 साल की पीहू और 4 माह का साहिल के साथ अपने ससुराल होशंगाबाद जिले की सिवनी मालवा गए थे. एक शादी समारोह में शरीक होने 11 फरवरी को गए थे. इसके बाद 16 फरवरी को वे घर के लिए निकले. दोपहर को अमित अपनी बहन से मिलने हरदा के टिमरनी में रुके थे. इसके बाद शाम 7:00 बजे उसकी पिता से आखरी बार बात हुई उस समय वह हरदा शहर में था. जिसके बाद रात 11:00 बजे अमित के जीजा ने उसके मोबाइल पर फोन किया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया. उसके बाद अमित के जीजा ने अमित के पिता को फोन कर उनसे पूछा अमित महेश्वर पहुंचा या नहीं. जवाब नहीं मिला. यह सिलसिला रात 2:00 बजे तक चला. अमित के पिता ने महेश्वर में ही अपने परिचित पुलिसकर्मी से बात की और 17 तारीख को उसके फोन की लोकेशन को तलाशा गया उसके फोन की लोकेशन हरदा जिले के हंडिया में नर्मदा किनारे मिली. 

जिसके बाद उसके परिजन हरदा पहुंचे और उन्होंने तलाश की. जहां हरदा जिले के हंडिया में भगवान रिद्धनाथ मंदिर परिसर में कार पार्किंग में मिली. इसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी. इसके बाद पुलिस हरकत में आई और पुलिस ने कार के लॉक को खुलवाया. जिसमें दोनों पति पत्नी के मोबाइल पाए गए साथी को सामान भी गाड़ी में ही मिला.

आसपास पूछताछ करने पर पता चला यह गाड़ी कोई अनजान व्यक्ति खड़ी कर कर गया है. पुलिस ने आसपास के दुकानदारों से जब अमित की तस्वीर दिखा कर पूछा. क्या यह गाड़ी अमित द्वारा खड़ी की गई है तो दुकानदारों ने साफ इनकार कर दिया. उन्होंने कहा इस गाड़ी को कोई दूसरा ही व्यक्ति खड़ी कर कर गया है. अब पुलिस गुमशुदगी का मामला दर्ज कर इस पूरे मामले की जांच कर गुमशुदा की तलाश की जा रही है.