भोपाल : जानिए ऐसा क्या हुआ कि प्रशासन ने हजारों लीटर दूध गड्ढे में बहा दिया

खाद्यविभाग की टीम ने टैंकर को शहर से दूर खुली जगह में ले जाकर उसमें रखे गए दूध को नष्ट किया.

भोपाल : जानिए ऐसा क्या हुआ कि प्रशासन ने हजारों लीटर दूध गड्ढे में बहा दिया
भोपाल में मिलावटी दूध को नष्ट करते खाद्यविभाग के अधिकारी.

विवेक शुक्ला/भोपाल: क्राइम ब्रांच परिसर में पिछले 20 दिनों से टैंकर में रखा हजारों लीटर दूध अचानक रिसने लगा. जिसके बाद जिला प्रशासन के आदेश पर दूध को खाद्यविभाग की टीम के द्वारा नष्ट किया गया. टैंकर से बदबूदार दूध रिसनेे से लोगों को परेशानी हुई. खाद्यविभाग की टीम ने टैंकर को शहर से दूर खुली जगह में ले जाकर उसमें रखे गए दूध को नष्ट किया.

यूरिया की मिलावट वाले दूध का टैंकर हुआ था जब्त
दरअसल, विगत 15 दिसम्बर को मण्डीदीप में सांची ब्रैंड के दूध के टैंकर में यूरिया मिलाते हुए रंगे हाथों पकड़े गए लोगों पर कार्रवाई की गई थी. इस दौरान जिस दूध के टैंकर में यूरिया मिलाया गया था उसे खाद्यविभाग की टीम ने जब्त कर लिया था. खाद्यविभाग को खबर मिली थी कि सांची ब्रैंड के दूध में मिलावट की जा रही है. जिसके बाद खाद्यविभाग की टीम ने यह कार्रवाई की थी और यूरिया की मिलावट वाले करीब 21 हजार लीटर दूध के साथ टैंकर को जब्त किया गया था.

टैंकर में गैस बनने से शुरू हुआ रिसाव
भोपाल के क्राइम ब्रांच परिसर में 20 दिन से खड़े जब्त टैंकर से यूरिया की मिलावट वाला दूध अचानकर रिसने लगा. यूरिया की मिलावट वाले दूध से टैंकर में गैस बन गया. इससे दूध टैंकर से रिसने लगा. शनिवार को जिला प्रशासन के आदेश पर टैंकर में भरे मिलावटी दूध को नगर निगम के सहयोग से आदमपुर छावनी में एक गड्ढे में नष्ट किया गया.