शिक्षा के मंदिर में करते थे नशे का कारोबार, छापा मारने गई पुलिस के उड़े होश

पुलिस को खबर मिली थी कि गांव के कुचबंधियां मोहल्ले में लॉकडाउन के दौरान जहरीली शराब बनाने का काम चल रहा है. जिस पर आबकारी विभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए तस्करी करने वालों पर दबिश दी.

शिक्षा के मंदिर में करते थे नशे का कारोबार, छापा मारने गई पुलिस के उड़े होश
स्कूल में जांच करती पुलिस टीम

जबलपुरः जबलपुर जिले में शिक्षा एक मंदिर की मर्यादा लांघने वालों की पोल खुली है. जिले के घमापुर थाना क्षेत्र से शराब तस्करी का मामला सामने आया है. यहां मोहल्ले के बंद पड़े सरकारी स्कूल में जहरीली शराब मिलने से शहरवासी सकते में आ गए. शनिवार सुबह जब पुलिस ने बंद पड़े स्कूल की पड़ताल की तो टीम के होश उड़ गए. टीम ने पाया कि तस्करों ने कोरोना के दौरान बंद पड़े शासकीय स्कूल को ही अपना अड्डा बना रखा है.

फसल बीमा की लिस्ट में नहीं किसानों का नाम, कलेक्टर परिसर में किया हंगामा, लगाया जाम

मोहल्ले में शराब तस्करी की मिली थी जानकारी
दरअसल, पुलिस को खबर मिली थी कि गांव के कुचबंधियां मोहल्ले में लॉकडाउन के दौरान जहरीली शराब बनाने का काम चल रहा है. जिस पर शनिवार सुबह आबकारी विभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए तस्करी करने वालों पर दबिश दी. इसी दौरान उन्होंने पास ही के बंद पड़े सरकारी स्कूल की तलाशी की, स्कूल के अन्दर का माहौल देखकर विभाग की टीम भी भौचक्की रह गई. टीम को यहां तेल के डिब्बों में लगभग 5 हजार लीटर महुआ लाहन मिली. जिसे जहरीली शराब बनाने के काम में लिया जाता है.

व्यापमं घोटाले के बाद शिवराज सरकार ने बदला पैटर्न, आवेदन से रिजल्ट तक अब फुल प्रूफ

अज्ञात तस्करों पर दर्ज किया मामला
आबकारी विभाग की टीम ने महुआ लाहन को जब्त करते हुए उसे मौके पर ही नष्ट कर दिया. वहीं अज्ञात लोगों पर आबकारी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. जांच का विषय तो यह भी है कि शिक्षा के मन्दिर में इतने दिनों तक अवैध शराब का कारोबार होता रहा और जिम्मेदार व्यक्तियों को इसकी भनक तक नहीं लगी.

WATCH LIVE TV