close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सतना में अपहरण के बाद 13 साल के बच्चे की हत्या, शिवराज बोले- 'मेरा MP ऐसा तो नहीं था'

'पहले भी सतना में दो मासूम भाइयों की अपहरण के बाद हत्या हुई थी, लेकिन सरकार उसके बाद भी नहीं चेती. प्रदेश में कानून-व्यवस्था कहीं नहीं है. सरकार अब तो आंखें खोलो'

सतना में अपहरण के बाद 13 साल के बच्चे की हत्या, शिवराज बोले- 'मेरा MP ऐसा तो नहीं था'
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना को लेकर प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है.

गौतम सोलंकी/सतनाः मध्य प्रदेश के सतना जिले में एक बार फिर मासूम के अपहरण के बाद हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. इस बार मासूम के अपहरण और हत्यारा उसका चचेरा भाई निकला. इसके पहले भी सतना जिले में 2 जुड़वा मासूमों की अपहरण कर हत्या के दिल दहलाने वाले मामला सामने आ चुके है और हर बार की तरह पुलिस की इस बार भी बड़ी नाकामयाबी सामने आई है.

घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर दुख जताया है. इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, यह एक हृदय विदारकर घटना है, जिससे आत्मा पूरी तरह से हिल गई है. पहले भी सतना में दो मासूम भाइयों की अपहरण के बाद हत्या हुई थी, लेकिन सरकार उसके बाद भी नहीं चेती. प्रदेश में कानून-व्यवस्था कहीं नहीं है. सरकार अब तो आंखें खोलो. कितने माता-पिता के बच्चे ऐसे छिनते रहेंगे?

बता दें घटना सतना जिले के अमरपाटन थाना के चोरहटा गाँव की है. जहां अपहरणकर्ताओं ने 16 तारीख को 13 साल के बच्चे का अपहरण करके उसके हाथ-पैर बांध कर जिंदा कुएं में डाल उसकी हत्या कर दी. उसके बाद 17 अगस्त को मासूम के परिजनों से फोन कर 10 लाख की फिरौती की मांग की पुलिस का कहना है कि मृतक एवं मृतक के बड़े पिता में पूर्व से ही जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था. इस आपसी रंजिश को मन में रखते हुए मृतक का चचेरे भाई तेजबली ने अपने चाचा के बेटे की हत्या की योजना पूर्व से ही बना ली थी.

देखें लाइव टीवी

इसके लिए आरोपी तेजबली मृतक विकास कुमार प्रजापति उम्र 13 वर्ष को कई जगह घुमाने भी ले जाते था. 16 अगस्त को भी हत्या करने से पूर्व तेजबली, मृतक को घुमाने के लिए नदी के पास ले गया था. दोपहर बाद तेजबली ने मृतक विकास को गांव के बाहर बंसीपुर थाना नादन देहात मैहर क्षेत्र एक गढ़ी में घूमने के लिए बुलाया. जहां एक कुएं में मृतक विकास को तेजबलि ने हाथ पैर बांधकर कुएं में डाल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. उसके बाद भी मृतक के पिता के साथ आरोपी तेजबली और धनीराम भी मृतक विकास की तालाशी में लगे रहे. 

मध्य प्रदेशः सतना में 4 सालों में गायब हुए 721 से भी अधिक बच्चे, जानें क्या कहते हैं आंकड़े

दूसरे दिन सुबह विकास के पिता ने थाना अमरपाटन में अपने बेटे विकास की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. जिस पर पुलिस को गुमराह करने के लिए 17 अगस्त को तेजबली ने 13:41 बजे फिरौती की मांग के लिए मृतक के पिता के मोबाइल पर फोन किया. जिसके बाद पुलिस ने 12 घंटे के अंदर आरोपी तेजबली को गिरफ्तार कर मृतक के शव को बरामद कर लिया.