close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेशः ग्वालियर में बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप, 14 नए मरीजों की पुष्टि

डेंगू का मौसम शुरू होने के पहले ही ग्वालियर के अलग-अलग इलाकों में डेंगू के लारवा का सर्वे का काम किया गया है और जहां भी डेंगू का लार्वा मिला है वहां फॉगिंग आदि कराई गई है. इसके साथ ही कुछ प्रतिष्ठानों पर जुर्माने भी लगाए गए हैं.

मध्य प्रदेशः ग्वालियर में बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप, 14 नए मरीजों की पुष्टि

ग्वालियरः मध्य प्रदेश के ग्वालियर, चंबल संभाग में डेंगू का डंक अब लोगों को बीमार करने लगा है, ग्वालियर के गजरा राजा मेडिकल कॉलेज में ग्वालियर चंबल संभाग के जिलों से 33 ब्लड सैंपल जांच के लिए लैब में पहुंचे थे, इनमें से 14 मरीजों को डेंगू की पुष्टि हुई है. इससे पहले भी इस सीजन में एक दर्जन से अधिक डेंगू के मरीज सामने आ चुके हैं. हालांकि जिला स्वास्थ्य विभाग का अपना अलग दावा है उनका कहना है कि डेंगू का मौसम शुरू होने के पहले ही ग्वालियर के अलग-अलग इलाकों में डेंगू के लारवा का सर्वे का काम किया गया है और जहां भी डेंगू का लार्वा मिला है वहां फॉगिंग आदि कराई गई है. इसके साथ ही कुछ प्रतिष्ठानों पर जुर्माने भी लगाए गए हैं, लेकिन इन सबके बावजूद डेंगू के मरीज लगातार सामने आ रहे हैं.

पिछले साल ग्वालियर चंबल संभाग में 1000 से अधिक डेंगू के मरीज सामने आए थे, जिनमें से 9 लोगों की इलाज के दौरान मौत हुई हुई थी. वहीं शहर में लगातार सामने आ रहे डेंगू के मरीजों को देखते हुए कलेक्टर अब सख्त कार्रवाई करने के मूड में हैं. डेंगू लार्वा नष्ट करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को 24 घंटे काम करने के लिए तैनात किया गया है. साथ ही कलेक्टर का कहना है कि जो अधिकारी ठीक से काम नहीं कर रहे हैं, उनको नोटिस जारी किया जाएगा.

देखें LIVE TV

'अक्की' को पूर्व डकैत मलखान सिंह की चेतावनी, 'पृथ्वीराज पर बन रही फिल्म के तथ्यों से छेड़छाड़ की तो...'

इसके साथ ही रोजाना जो भी कार्य किया जा रहा है उसकी रिपोर्ट एडिशनल कलेक्टर को देनी होगी. डेंगू के बढ़ते मामलों को लेकर बीते साल ग्वालियर हाईकोर्ट खंडपीठ में एक जनहित याचिका दायर हुई थी. जिसके बाद हाईकोर्ट ने निर्देश दिया था कि, अगले साल तक सभी कमियों को दूर करते हुए ग्वालियर शहर में डेंगू लार्वा को पनपने ना दिया जाए. यही वजह है कि डेंगू के लगातार बढ़ रहे मामलों को लेकर कलेक्टर सख्त हैं और आने वाले वक्त में बड़ी कार्रवाई देखने को मिल सकती है.